लापता चरवाहे की हत्या से सनसनी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Sunday, September 6, 2020

लापता चरवाहे की हत्या से सनसनी

रेल पटरी में मिला शव, छह दिन पूर्व बकरे की खोेज के दौरान जंगल से हुआ था गायब

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। थाना क्षेत्र के सरैया चैकी अंतर्गत ग्राम हनुवा के बजहा पुरवा से लापता हुए चरवाहे का छठवें दिन बहिलपुरवा रेलवे स्टेशन के समीप रेल पटरी किनारे शव मिलने से हड़कंप मच गया। सूचना पर थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। परिजनों ने शव की शिनाख्त की है।

घटना स्थल में एसपी व मर्चरी में रोते-विलखते परिजन।

गौरतलब हो कि बीते मंगलवार को बजहा पुरवा निावासी राजू पहलवान पुत्र कल्लू घर से बकरी चराने जंगल गया था। वापस आने पर एक बकरा के न होने पर दुबारा जंगल खोजने गया। इसके बाद वापस नहीं लौटा। परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। सड़क जाम कर युवक के बरामदगी की मांग की थी। छठवे दिन रेल पटरी में शव मिलने से परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है। इस संबंध में क्षेत्राधिकारी विजयेन्द्र द्विवेदी ने बताया कि पुलिस लगातार तलाश में जुटी थी। शव मिलने की सूचना पर पोस्टमार्टम कराया गया है। चरवाहे का शव मिलने के बाद पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने घटना स्थल पहुंचकर पड़ताल की है।  

एसपी ने की पड़ताल

चित्रकूट। पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने लापत युवक राजू के शव मिलने की सूचना पर तत्काल घटना स्थल पहुंचे। जांच पड़ताल कर थाना पुलिस को कड़े लहजे पर शीघ्र घटना के अनावरण के निर्देश दिए हैं। 


सुरक्षा के बीच पोस्टमार्टम व अंतिम संस्कार

चित्रकूट। एक सितम्बर से गायब हुए राजू पहलवान का शव बहिलपुरवा थाना क्षेत्र के डिडवारा पुरवा के समीप रेल पटरी में मिला। शव मिलने की सूचना रेल कर्मी ने पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को बुलाकर शिनाख्त करायाा। भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पोस्टमार्टम हाउस में शव विच्छेदन हुआ। इसके बाद शव गांव ले जाकर पुलिस की मौजूदगी में अंतिम संस्कार कराया गया। 

परिजन रो-रोकर बेहाल

चित्रकूट। मृतक राजू पहलवान का शव मिलने से परिजनों में कोहराम मच गया। बताया कि हालही में जून माह में लाकडाउन के दौरान शादी हुई थी। मृतक तीन भाईयों में सबसे छोटा था। मां बेसनिया व पिता कल्लू रो-रोकर बेहाल हैं। 

मृतक के बंधे थे हांथ

चित्रकूट। बताते हैं कि मृतक राजू पहलवान के दोनो हाथ बंधे थे। शरीर में कुल्हाडी के वार के निशान हैं। चर्चा यह भी है कि हत्यारों ने पहलवान को बंधक बनाने के बाद हत्या कर शव पटरियो में फेंका गया है। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages