अत्याचार बर्दास्त करना है सबसे बड़ी कायरता - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Wednesday, September 30, 2020

अत्याचार बर्दास्त करना है सबसे बड़ी कायरता

हमीरपुर, महेश अवस्थी  ।  राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण ने कुरारा ब्लाक के चंदूपुर स्थित प्राथमिक पाठशाला में महिला सशक्तिकरण हेतु विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया । मुख्य अतिथि सुनीता शर्मा सिविल जज/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलित कर विधिक शिविर का शुभारम्भ किया ।  न्यायिक अधिकारी/सचिव श्री मती सुनीता शर्मा ने कहा कि महिलाएं पुरुषों से अधिक शक्तिशाली हैं, और हर क्षेत्र में सफलता का परचम लहरा रही हैं । वहीं अभी भी बहुत सी अज्ञानता,अशिक्षा व निर्धनता के कारण खुद को कमजोर समझकर उत्पीड़न व अत्याचार बर्दाश्त कर रही हैं । अत्याचार बर्दाश्त करना सबसे बड़ी कायरता है । संविधान में महिलाओं को बराबरी का दर्जा मिला है । महिलाओं  को समान हक व समान कानूनी अधिकार हैं । उन्हें गाढ़े वक़्त पर अपने कानूनी अधिकारों को इस्तेमाल करना चाहिए । सिविल जज श्रीमती


शर्मा ने समाज में  महिलाओं के प्रति हो रहे दहेज़ उत्पीड़न एवं घरेलू हिंसा  मामलों में होने वाले क्रूर व्यवहार व उत्पीड़न से बचने के लिए कानूनी उपाय बताये ।  साथ ही यह भी बताया कि पीड़ित गरीब व निर्बल वर्ग की महिलायें एवं पुरुष अपने मुकदमे की पैरवी हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से प्रदत्त वकील की सेवाएं निःशुल्क रूप से प्राप्त कर सकते हैं ।महिला कल्याण विभाग की क्वार्डिनेटर संतोषी शर्मा ने सुकन्या मंगला कन्या योजना,  बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की जानकारी दी । उन्होंने उत्पीड़न से बचने के लिए 1076 व 181 टोल फ्री नंबर डायल कर कॉल करने को कहा । पीएलवी गणेश सिंह, रिसोर्स पर्सन श्री मती शैलजा निगम तथा गरिमा ओमर समाजसेवी ने भी शिविर में महत्वपूर्ण विधिक जानकारियां दी । ग्राम प्रधान श्री मती राजकली, कु. अवंतिका एडवोकेट, देवेंद्र मोहन चौबे, लक्ष्मी कान्त त्रिपाठी, मुकेश द्विवेदी सहित गाँव की महिलाएं व पुरुष मौजूद रहे । कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्राम प्रतिनिधि संतोष निषाद ने किया ।  संचालन दीपक चक्रवर्ती ने किया ।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages