मंदाकिनी में माइक्रो वाटर शेड का शुरू हो कार्य: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Friday, September 11, 2020

मंदाकिनी में माइक्रो वाटर शेड का शुरू हो कार्य: डीएम

नदी किनारे बसे गांवों से नहीं जाना चाहिए गंदगी

बूडे हनुमान जी के पास चेकडैम, तालाब सुन्दरीकरण समेत नाली टैपिंग व रामघाट में नियमित सफाई के दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में मां मंदाकिनी नदी को वर्षभर प्रवाहमान बनाए रखने एवं पुनर्जीवित के प्रयास हेतु बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।

जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता सिंचाई बीबी सिंह को निर्देश दिए कि जो वर्ष 2018-19 तथा वर्ष 2019-20 में विभिन्न विभागों द्वारा कार्य कराए गए हैं उसकी अच्छी फोटोग्राफ्स लेकर ई फाइल उपलब्ध कराएं। वर्ष 2020-21 की कार्य योजना भी संबंधित विभाग जो अभी तक नहीं दिए हैं वह तत्काल दें। कहां की मंदाकिनी नदी के माइक्रो वाटर शेड में जो कार्य लिए गए हैं तत्काल कार्य शुरू कराए। उन्होंने कहा कि शासन से निर्देश मंडलीय बैठक में दिए गए थे कि मंदाकिनी पुनर्जीवित के कार्यो को तेजी से कराया जाए इसमें सभी विभाग तत्काल कार्य शुरू करा दें। सिंचाई व लघु सिंचाई तथा भूमि संरक्षण अधिकारी एक साथ भ्रमण कर नदी, नालों पर चेकडैम बनाए जाने का चिन्हांकन करें। खंड विकास अधिकारी कर्वी तथा मानिकपुर को निर्देश दिए कि जो भी कार्य कराए गए हैं उनका शत-प्रतिशत निरीक्षण अवश्य करें। सभी हैंडपंपों में सोक पिट अवश्य बनाए जाएं। पुराने बावली, कुआं भी लिया जाए। रैन वाटर हार्वेस्टिंग के कार्यों को बढ़ाएं तथा साप्ताहिक समीक्षा भी करें। सहायक अभियंता लघु सिंचाई विनय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि 150 ब्लास्ट कुंओं के लक्ष्य के सापेक्ष 34  पूर्ण हो गए हैं। जिलाधिकारी ने लघु सिंचाई को निर्देश दिए कि कम से कम 4 मीटर के व्यास से बाउंड्री वाल आवश्यक ऊपर

बैठक में निर्देश देते डीएम।

बनाई जाए। वन विभाग के अंतर्गत नदी, नाले आते हैं उसका प्रस्ताव तीन दिन के अंदर उपलब्ध कराएं। शहर के नालों, नालियों के टैपिंग के लिए प्रस्ताव शासन को भेजा गया है उसमें अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद कर्वी को निर्देश दिए कि बड़े नालों को टैपिंग करने का कार्य 15वें वित्त आयोग से कराएं। धनराशि की मांग भी शासन से की जाए। अधिशासी अभियंता जल संस्थान को निर्देश दिए कि पानी के जांच के लिए लैब की व्यवस्था तत्काल कराई जाए। उन्होंने रामघाट की साफ सफाई पर सिंचाई विभाग व अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद कबी को निर्देश दिए कि नियमित रूप से साफ सफाई कराते रहे। उन्होंने उप जिलाधिकारी कर्वी तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर को निर्देश दिए कि लगातार निरीक्षण भी करते रहे। रामघाट के नीचे स्तर पर बूढ़े हनुमान जी के पास एक चेकडैम बनाने का प्रस्ताव भी बनाया जाए। कलेक्ट्रेट के पास तालाब का भी सुंदरीकरण करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता सिंचाई को निर्देश दिए कि बैठक में मध्य प्रदेश के अधिकारियों को भी बुलाया जाए। जितने गांव मंदाकिनी नदी के आसपास है वह किसी भी प्रकार की गंदगी मंदाकिनी नदी पर न फेंके। इसके लिए जन जागरूकता अभियान भी चलाया जाए। मंदाकिनी नदी की धारा अविरल बनी रहे इसमें सभी लोग आगे बढ़कर कार्य करें। उन्होंने कहा कि जो शासन से निर्देश दिए गए हैं उसी के अनुसार पालन कराया जाए। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, उप जिलाधिकारी राम प्रकाश, डीसीएनआर राम उदरेज यादव, क्षेत्राधिकारी कर्वी रजनीश यादव सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages