डेंगू के डंक को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग अलर्ट - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, September 4, 2020

डेंगू के डंक को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

शहरी क्षेत्र में चयनित डीबीसी को दिया गया प्रशिक्षण

घर में डेंगू मच्छर पैदा हुए तो गृहस्वामी को दी जाएगी नोटिस 

बांदा, के एस दुबे । कोरोना के बीच अब डेंगू और मलेरिया को लेकर भी सतर्क रहने की जरूरत है। बरसात के मौसम में जलभराव वाले इलाकों में  लार्वा पैदा होने के कारण मच्छर पनप  रहे हैं। डेंगू के डंक को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कड़ा कदम उठाया है। शहरी क्षेत्र में 12 डोमेस्टिक ब्लडिंग चेकर्स (डीबीसी) चयनित किए गए हैं। बृहस्पतिवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी सभागार में डीबीसी को प्रशिक्षण दिया गया। यह टीमें घर-घर जाकर सर्वे करेंगी। घरों में डेंगू मच्छर के प्रजनन की स्थितियां उत्पन्न होने पर गृहस्वामी को इसकी जानकारी दी जाएगी। गृहस्वामी द्वारा इसे नष्ट न कराने पर नोटिस दी जाएगी व कार्रवाई की जाएगी। 

सीएमओ कार्यालय में डीबीसी को प्रशिक्षण देती जिला मलेरिया अधिकारी पूजा अहिरवार

जिला मलेरिया अधिकारी पूजा अहिरवार ने कहा कि हम सभी कोरोना वायरस से लड़ रहे हैं। ऐसे में जरा सी भी लापरवाही आम आदमी को मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया का शिकार बना सकती है। इसलिए जरूरी है कि अपने घरों के आस-पास मच्छर न पनपने दें। उन्होंने कहा कि मच्छर जनित बीमारियों से बचने के लिए जरूरी है कहीं पर भी पानी  इकट्ठा ना होने पाए। कहीं पर पानी एकत्रित है तो उसमें केरोसीन और डीजल आदि का मिश्रण तैयार कर डाल दें।  पानी पर तेल की परत  बनेगी तो मच्छरों का लार्वा  पनप नहीं पाएगा और मच्छर खत्म हो जाएंगे।

प्रशिक्षक सहायक मलेरिया अधिकारी साहब लाल ने कहा कि डीबीसी टीमें शहरी क्षेत्र में सभी वार्डों मंत सर्वे कर लोगों को डेंगू मच्छर उत्पन्न होने के कारकों के बारे में जानकारी देंगी। साथ ही घरों में गमलों, कूलर आदि का पानी बदलने और आस-पास जलभराव वाले स्थान पर मिट्टी का तेल, रसायन आदि के छिड़काव के लिए प्रेरित करेंगे। किसी भी घर में मच्छरों के प्रजनन का लक्षण मिलने पर उसे 24 घंटे के भीतर नष्ट करने की नोटिस देकर चेतावनी दी जाएगी। 

इनसेट 

जुलाई से अक्टूबर के  बीच फैलता है डेंगू

बांदा। जिला मलेरिया अधिकारी  ने बताया कि डेंगू, बरसात के मौसम में और उसके फौरन बाद के महीनों में यानी जुलाई से अक्टूबर में सबसे ज्यादा फैलता है, क्योंकि इस मौसम में मच्छरों के पनपने के लिए अनुकूल परिस्थितियां होती हैं। एडीज इजिप्टी मच्छर बहुत ऊंचाई तक नहीं उड़ पाता और डेंगू का मच्छर खासतौर पर सुबह के वक्त काटता है। काटे जाने के करीब 3-5 दिनों के बाद मरीज में डेंगू बुखार के लक्षण दिखने लगते हैं। शरीर में बीमारी पनपने की मियाद 3 से 10 दिनों की भी हो सकती है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages