गोशाला सूनी, जानवर सड़को पर, फसले कर रहे बर्बाद - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Wednesday, September 2, 2020

गोशाला सूनी, जानवर सड़को पर, फसले कर रहे बर्बाद

हमीरपुर, महेश अवस्थी   । सूरज ढ़लते ही सड़कों पर दिखलाई पड़ने लगता है गौवंश, सरकार द्वारा बनवाये गए चारागाहों पर अवैध कब्जों की भरमार ने गोवंश को सड़कों पर ला दिया है। जहां कहीं भी गोवंश जाता है , वहां पर उसे लाठी, डंडे से पीटा जाता है । उन पर गर्म पानी फेंका जाता है । कुछ लोग उन्हें हथियार से घायल कर देते है ।वाहनो की टक्कर से घायल होने या मर जाना आम बात है। जिससे गोवंश सूरज ढलते ही सड़कों पर आकर अपने पेट की आग बुझाने के लिए इधर-उधर घूमने लगता है। जिससे किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें दौड़ने लगती हैं और गोवंश अपनी पेट की आग बुझाने के लिए किसानों के खेतों की ओर रुख करते हैं , तो किसान की सांस फूलने लगती है। प्रशासन का जिम्मा है कि गो वंश के रहने खाने की व्यवस्था करे। मगर न जाने कहां से इतना गोवंश सड़कों पर शाम को आ जाता है। लगता है कि सभी पशुपालक अपने गोवंश को घरों से शाम को बाहर निकाल देते  है । वही गांव


गांव बनी गोशालाएं इन दिनों खाली है ।मुख्यालय से लगी कनौटा मार्ग पर बनी गोशाला खाली पड़ी है । ग्रामीणों का आरोप है कि गोशाला के जानवर बेंच दिएहै।गोशाला का कर्ता धर्ता सचिव नीरज सचान न तो फोन उठता है ।नही कुरारा ब्लाक में मिलता है ।गांव के शिव धनी,हेमेंद्र,ने बताया कि गोशाला के अन्ना जानवर फसल को बर्बाद कर रहे हे । उन्हें गोशाला में बंद कराया  जाए । हालांकि जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने गोवंश सड़कों पर न दिखें ,ऐसे निर्देश अधिकारियों को दिए है । सरकार के तमाम इंतजामों के बीच गोवंश का सड़कों पर घूमना निश्चित ही आमजन और कार्यदाई लोगों को के शर्म का विषय है। पूरे प्रदेश में सरकार जहां गौ संरक्षण व संवर्धन के लिए हजारों करोड़ रुपए खर्च कर रही है , वहीं इस तरीके से गोवंश का घूमना कहीं न कहीं सवाल खड़े करता है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages