25 कुपोषित बच्चों के परिवारों को बांटे गौवंश, सहजन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Saturday, September 26, 2020

25 कुपोषित बच्चों के परिवारों को बांटे गौवंश, सहजन

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। सांसद आरके सिंह पटेल, जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय, पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल तथा मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी की उपस्थिति में पोषण अभियान के अंतर्गत कुपोषित बच्चों के परिवारों को दुधारू गोवंश उपलब्ध कराने संबंधी समारोह विकासखण्ड पहाड़ी के ग्राम पंचायत खरसेडा की गौशाला में हुआ। इस दौरान 25 कुपोषित बच्चों के परिवारों को गोवंशों की पूजा अर्चन कर गोवंश व सहजन के पौधे तथा प्रमाण पत्र वितरित किए गए।

कार्यक्रम के दौरान सांसद ने कहा कि जिलाधिकारी का यह कार्य सराहनीय है। पूर्व में बच्चों की कुपोषण से मृत्यु हो जाती थी, लेकिन आज आशा, एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के प्रयास से कुपोषण के शिकार बच्चों को चिन्हित कर लाभान्वित कराया जा रहा है। सरकार ने धात्री, गर्भवती महिलाओं, कुपोषित बच्चों को काफी योजनाएं लागू कर लाभ दिया है। कहा कि पहले जब शादी होती थी तो टीबी, फ्रिज, कूलर नहीं दिया जाता था। एक गाय देते थे। जब बच्चे पैदा होते थे तो मायके में दहिनोरा के समय भी गाय दी जाती थी। आज यह परंपरा बंद हो गई है। जिलाधिकारी सहित पूरी टीम बधाई के पात्र हैं। जिन्होंने पुरानी परंपरा को लागू कर दुधारू गाय देने का कार्य किया है। गाय का दूध अमृत होता है। तीन वर्ष तक अगर इन देसी गाय का दूध बच्चों को पिला देंगे तो कोई बीमारी बच्चों

गौवंश देते सांसद, डीएम, एसपी।

को नहीं होगी। सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ लें। कहा कि किसानों के खातों में प्रतिवर्ष छह हजार रूपये देकर किसान निधि लागू किया है। जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री की प्रेरणा से यह एक अभूतपूर्व कार्यक्रम जनपद में चलाया जा रहा है। पांचों विकास खंडों में कुपोषित बच्चों के परिवारों को दुधारू गाय देंगे। कहा कि पहले जब लोगों ने इन गायों को अन्ना छोड़ा था अब यह गौशाला में इनका भरण पोषण किया जा रहा है। यह दूध भी दे रही है। मुख्यमंत्री की प्रेरणा थी कि इससे न केवल बच्चे कुपोषण से दूर होगा। पूरे परिवार को लाभ होगा। जब तक यह गाय दूध दें इनका भरण पोषण करें। इसके बाद पशु विभाग के लोग नस्ल सुधार के कार्यक्रम करेंगे। उन्होंने कहा कि गौ सेवा गोविंद सेवा है। जनपद के 301 ग्राम पंचायतों में गौ आश्रय स्थल बनाए गए हैं। जिसमें से 31 737 गोवंश संरक्षित किए गए हैं। जिनका भरण पोषण ग्राम प्रधानों, सचिव व अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष किसानों की उपज में एक हेक्टेयर से ऊपर फसलों पर वृद्धि हुई है। पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने कहा कि निश्चित तौर पर कुपोषित बच्चों के भविष्य को लेकर अन्ना दुधारू गोवंश जो उपलब्ध कराए जा रहे हैं इससे लाभ होगा। गायों की सेवा करें तथा अपने बच्चों का कुपोषण से दूर करें। मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी ने कहा कि खुशी का दिन है। मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कुपोषित बच्चों के परिवारों को चिन्हित कर गौशालाओं से दूध देने वाली गाय को देने के निर्देश दिए गए थे। जिसके अनुपालन में यह कार्यक्रम आयोजित कर कुपोषित बच्चों के परिवारों को दुधारू गोवंश दिए जा रहे हैं। कहा कि कुपोषण को हल्के में न लें। बच्चे देश के भविष्य हैं। आने वाले समय में देश का हिस्सा बने। इसलिए कुपोषण दूर कराएं और कुपोषित बच्चा अपनी तरक्की तभी कर पाएगा। कार्यक्रम का संचालन बाल विकास परियोजना अधिकारी शहर बच्चू लाल गुप्ता ने किया। इस दौरान जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, खंड विकास अधिकारी पहाड़ी विपिन कुमार, प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास पीडी विश्वकर्मा, बाल विकास परियोजना अधिकारी पहाड़ी महेंद्र कुमार पटेल, बाल विकास परियोजना अधिकारी रामनगर वीरेंद्र कुशवाहा सहित ग्राम प्रधान व सचिव आदि मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages