पूर्व विधायक महेन्द्र प्रताप का निधन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Friday, August 7, 2020

पूर्व विधायक महेन्द्र प्रताप का निधन

फतेहपुर, शमशाद खान । लम्बे समय से बीमार चल रहे भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक एवं वयोवृद्ध महेन्द्र प्रताप नारायण सिंह का शुक्रवार की दोपहर निधन हो गया। उनके निधन का समाचार मिलते ही भारतीय जनता पार्टी में जहां शोक की लहर दौड़ गयी वहीं अन्य सियासी दलों सहित अलग-अलग क्षेत्रों में सक्रिय लोगों का उनके मुराइनटोला स्थित आवास पर पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया। उनका अन्तिम संस्कार कल (आज) भृगुधाम भिटौरा में किया जायेगा। 

यह जानकारी दिवंगत पूर्व विधायक के सुपुत्र ज्ञानेन्द्र प्रताप सिंह ने देते हुए बताया कि वह काफी समय से बीमार चल रहे थे और घर पर ही उनका इलाज चल रहा था। उन्होने शुक्रवार की दोपहर 12 बजकर 25 मिनट पर अन्तिम सांस ली। उन्होने बताया कि उनके पिताजी वर्ष 1952 में भारतीय जनसंघ के जिलाध्यक्ष रह चुके हैं। वर्ष 1991 में फतेहपुर-बांदा विधान परिषद के लिए भी चुनकर सर्वोच्च सदन में पहुंचे थे। इसके अलावा 1993 में हस्वा विधानसभा से भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे थे। पूर्व विधायक के निधन का समाचार सोशल मीडिया पर वायरल होते ही उनके आवास पर पार्टी के अलावा अन्य राजनीतिक दलों के लोगों का

पूर्व विधायक की फाइल फोटो।
तांता लग गया। उनके निधन पर पार्टी के अलावा विभिन्न सियासी दलों के लोगों सहित समर्थकों ने गहरे दुख का इजहार किया है। साथ ही ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति व दुखी परिजनों को इस दुख की घड़ी में धैर्य प्रदान करने की कामना की है। बताते चलें कि दिवंगत विधायक एएस इण्टर कालेज में शिक्षक भी रह चुके हैं। वह अपने पीछे पूरा परिवार छोड़ गये हैं उनके बड़े बेटे योगेन्द्र प्रताप सिंह इंस्पेक्टर के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। साथ ही दूसरे नम्बर के बेटे ज्ञानेन्द्र प्रताप सिंह जहां पार्टी में अभी भी सक्रिय हैं वहीं सरस्वती विद्या मंदिर इण्टर कालेज के प्रबन्धक भी रह चुके हैं। वर्तमान में पिताजी के नाम पर एक स्कूल भी संचालित है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages