कर्ज, फर्ज और मर्ज कोई भूलता नहीं? - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, August 25, 2020

कर्ज, फर्ज और मर्ज कोई भूलता नहीं?

देवेश प्रताप सिंह राठौर 

(वरिष्ठ पत्रकार)

... जब मानव बच्चे के रूप में जन्म लेता है और जन्म लेने के बाद जब वह पूर्ण मानव का रूप में तैयार हो जाता है ,उस तैयार होने में कितने त्याग मां बाप का होता है, जो पढ़ा लिखा के आपको इस काबिल बनाते हैं कि आप उनकी सेवा करें वृद्धावस्था में उनका ध्यान रखें ,परंतु ऐसा होता नहीं है। क्यों आप सुनते होंगे हर समय किसी को पैसा उधार दिया हो वह कहता है यार मैं देना भूल गया, कोई कहता है मैं अपने बेटे के अपनी पत्नी का अपने परिवार का मुझे उस महीने पैसे देने थे मैं अपनी जिम्मेदारी से भूल गया ,कोई कहता है मुझे मर्ज तो बहुत गंभीर है लेकिन कहता है मुझे याद नहींरहा  । मैं दावे के साथ कह सकता हूं यह सब तीनों चीजें कभी भी किसी स्थित पर कोई नही भूलता कर्ज और फर्ज, मर्ज यह हमेशा व्यक्ति को  जहन में बने रहते हैं। इसलिए यह कहना गलत है कि मैं पैसा देना भूल गया मैं अपने बच्चों के प्रति जिम्मेदारी को भूल गया जिसे हम फर्ज कहते हैं और भयानक बीमारी है उस बीमारी को छुपा रहा है हमें याद नहीं रहा यह सब झूठ और मन को समझाने की बातें हैं ।इसका उदाहरण हर व्यक्ति के पास होता है कोई नहीं भूलता है ।जीवन की तीन वाते  ऐसी होती है, जो निकलने पर वापस नहीं आती

तीर कमान से बात जबान से और प्राण शरीर से, यह कटु सत्य है। फिर भी आदमी आज का इंसान  एक दूसरे इंसान का भूखा है देश को जात पात ही मैं बांध रखा है।......... केंद्र सरकार और राज्य सरकारों मैं पूर्ण विश्वास के साथ आपको हमेशा लिखता रहा हूं ,लिखता रहूंगा आप अल्पसंख्यकों के लिए जिन्हें हम मुसलमान कहते हैं इनके लिए आप मतलब भारतीय जनता पार्टी कितने भी अच्छे कार्य करें लेकिन इनके मन में आपके प्रति जो नफरत है वह शब्दों से देखी जा सकती है। मुझे स्पष्ट तौर पर उन लोगों के मुंह से निकल जाता है जो लोग मन में राम बगल में छुरी लिए बैठे हैं। अगर सरकार ने अभी भी कान अपने खड़े नहीं किए मैं विश्वास दिलाता हूं 2035 तक के भारतवर्ष मुस्लिम राष्ट्र हो जाएगा अगर नहीं हुआ तो हिंदू अल्पसंख्यक हो जाएगा इस देश में ,आप मतलब सरकार से मेरा निवेदन है राजनीति करो लेकिन जहां पर देश को आप भी आप लोग कुछ नियम कानून बनाएं जैसे जनसंख्या नियंत्रण में बहुत बड़ा कानून बनने की जरूरत है जो बहुत सख्त एवं देश हित में सबसे बड़ा कार्य माना जाएगा। मैं दावे के साथ कह सकता हूं डंके की चोट पर कह सकता हूं अगर भारतीय जनता पार्टी जितने भी मुसलमानों अल्पसंख्यकों के लिए काम अच्छी तरह अगर एक वोट आपको मिल जाए मैं पूर्ण विश्वास के साथ कह सकता हूं मुसलमानों की इन अल्पसंख्यकों की देश के मुखिया प्रदेश के मुखिया के प्रति जो नफरत है वह कभी ना कभी हम जैसे मीडिया के लोगों के सामने व नजर आ ही जाती है। यही ईर्ष्या द्वेष भारत के लिए खतरे का कारण बन रही है भारत में आतंकवादियों को शरण देने वाले कौन हैं हिंदुस्तान के अल्पसंख्यक मुसलमान है आप आतंकवाद को दूर करेंगे पहले इस करके में बैठे जो भेड़िए के रूप में आतंकवादी हैं जो सब कुछ भारत देश में करते हैं लेकिन उनका दिल धड़कता है, पाकिस्तान के लिए आतंकवाद के लिए ऐसे लोगों को सरकार समझ ले क्योंकि यह वह है जो चुपके पीठ में छुरा मारने वाले लोग हैं ।इनको समझना आज की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। जब भारत देश आजाद हुआ था तब दो देशों का बटवारा हुआ एक पाकिस्तानी दूसरा हिंदुस्तान पाकिस्तान मुसलमानों के लिए था,मुसलमानों के लिए और भारत हिंदुस्तान हिंदुओं के लिए था पर पाकिस्तान तो मुस्लिम देश घोषित है ,परंतु हमारा हिंदुस्तान आज हिंदू देश नहीं है। क्यों नहीं है कौन जिम्मेदार है इसका आज जो समस्याएं पैदा हो रही हैं वह उसी का परिणाम है जो कुछ भी हो रहा है वही आजादी के बाद अल्पसंख्यकों को रखने का परिणाम है जो आज देश के लिए नासूर बन गए है। जिस को खत्म करना सरकार के लिए बहुत बड़ी चुनौती है जिनके मन को बदलना सरकार के लिए बहुत बड़ी चुनौती है। देशा संकट में जिसका मुख्य कारण आजादी के बाद बंटवारे में तो पाकिस्तान में हिंदू अल्पसंख्यक के रूप में थे 1% बच्चे हैं सबके साथ क्या हुआ पूरा विश्व जानता है भारत में पूर्ण आजादी है उन्हें बोलने की और दंगा करने की और यह कहने की कि सरकार हमें 2 घंटे का समय दे दे तो हम 15 करोड़ लोग 100 करोड़ पर भारी पड़ेंगे यह ओवैसी के सवद हैं। अगर इतनी भारी पड़े होते तो इराक, वियतनाम, लीबिया, कुवैत, सीरिया यह देश यूरोप के देश अमेरिका और उनके सहयोगी देशों ने बर्बाद कर दिया है यह देश तालाब बन गए हैं , इतने बहादुर थे तो अरब कंट्री में जो हमला हुआ सद्दाम हुसैन से लेकर कर्नल गद्दाफी और अभी जल्दी ही अमेरिका ने एक मिसाइल के द्वारा ईरान का सबसे बड़ा दिमागदार  को मार गिराया था ने बर्बाद कर दिया है औरतों की संख्या अधिक है आदमी इस संख्या बहुत कम है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages