पुरानी रंजिश में प्रधान प्रतिनिधि को मारी गोली - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Sunday, August 9, 2020

पुरानी रंजिश में प्रधान प्रतिनिधि को मारी गोली

कोट गांव में तीसरी पीढ़ी में भी जारी खूनी संघर्ष

फतेहपुर, शमशाद खान । खखरेरू थाना क्षेत्र के कोट गांव में दशकों से चला आ रहा खूनी खेल थम नहीं रहा है। इससे तीसरी पीढ़ी के नौजवान भी अब एक-दूसरे की जान के दुश्मन बने हैं। खूनी संघर्ष में प्रधानी की राजनीति आग में घी डालने का काम कर रही है। रविवार को कुछ ऐसा ही घटित हुआ। प्रधानी की रंजिश में आज प्रधान पुत्र को दिन के दो बजे गांव में बने बस स्टाप के समीप गोली मार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।

जानकारी के अनुसार कोट गांव निवासी मो. मुसर्रत अली 36 वर्ष वर्तमान में प्रधान प्रतिनिधि हैं। उनकी मां ग्राम प्रधान है। बस स्टाप के समीप हमलावरों से उसकी किसी बात को लेकर हाट-टाक शुरू हो गई थी इसी बीच अचानक गोली चला दी। गोली युवक के दाहिने हाथ की बांह में लगी। गांव में हर षष्ठी का मेला लगा था। मेला को लेकर पुलिस गांव मौजूद थीं। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मियों ने तत्काल इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा। जहां से कानपुर के लिए रिफर कर दिया गया है। जिला अस्पताल में उपचार के दौरान साथ आये छोटे भाई नुसरत अली ने बताया कि भाई मां के प्रधान होने के कारण पूरा काम देखते हैं। हमला आने वाले चुनाव

जिला अस्पताल से घायल को कानपुर ले जाते परिजन।
को लेकर और अधिक रंजिश मानने लगे हैं। भाई मुसर्रत दो बजे के लगभग गांव में लगे मेला का जायजा लेने जा रहे थे, तभी पुरानी वह प्रधानी की रंजिश में कई लोगों ने घेर कर गोली मार दिया। पुलिस के प्रति आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि पिछले साल भी उनकी गोली मार कर हत्या का प्रयास किया गया था, लेकिन भाई ने नदी में कूद कर जान बचाई थी। इसका पुलिस में मुकदमा दर्ज हुआ, जिसमें पुलिस ने बाद में एफआर लगा दिया था। उसका आरोप है कि पुलिस ने उसमें सही काम करते हुए कार्रवाई की होती तो शायद आज यह घटना नहीं होती। थाना प्रभारी नागेन्द्र कुमार नागर ने बताया कि फिलहाल घटना की कोई तहरीर नहीं मिली। पुलिस जांच कर रही है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages