गोली लगने से चतुर्थ श्रेणी कर्मी की संदिग्ध मौत - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, August 29, 2020

गोली लगने से चतुर्थ श्रेणी कर्मी की संदिग्ध मौत

तमंचा सीने में रखा मिलने से उठ रहे सवाल 

पुलिस का दावा: फिलहाल आत्महत्या, पीएम रिपोर्ट से होगा खुलासा 

प्रेम-प्रसंग से भी घटना के तार जुड़े होने की आशंका 

बबेरू, के एस दुबे । संदिग्ध हालात में बबेरू स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के चतुर्थ श्रेणी कर्मी की गोली लगने से मौत हो गई। फायर की आवाज सुनकर जब तक लोग मौके पर पहुंचे तब तक चतुर्थ श्रेणी कर्मी दम तोड़ चुका था। तमंचा उसके सीने पर रखा हुआ था। इससे इस बात का दावा किया जा रहा है कि चतुर्थ श्रेणी कर्मी की हत्या की गई है। इधर, स्कूल से पास करके गई एक छात्रा के पिता ने वार्डेन से शिकायत करते हुए कहा कि उसकी बेटी से शादी करने की बात चतुर्थ श्रेणी कर्मी ने कही थी। इस मामले में चतुर्थ श्रेणी कर्मी के परिजनों को फोन करते हुए मृतक से बात की गई थी, इसी बीच यह घटना हुई। पुलिस आत्महत्या करार दे रही है। 

चंद्रशेखर द्विवेदी (फाइल फोटो)

कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय बबेरु में चपरासी पद में कार्यरत चंद्रशेखर द्विवेदी (51) पुत्र बोधन प्रसाद निवासी परसौली शनिवार सुबह विद्यालय पहुंचा। उससे पहले एक लड़की जो विद्यालय से पास होकर चली गई है, उसके पिता और एक रिश्तेदार ने पहुंच कर वार्डेन प्रभारी स्मृति गुप्ता को शिकायती पत्र देकर आरोप लगाया कि चंद्रशेखर ने मेरी बेटी से शादी करने के लिए कहा है। वार्डेन ने चपरासी के परिजनों को फोन के जरिये सूचना दी। वार्डेन ने चपरासी से कहा सुना। वार्डेन का कहना है कि वह बाथरूम मंजन करने गया था। कुछ देर में फायर की आवाज सुनाई दी तो हड़कंप मच गया। स्टाफ को बुलाकर देखा तो चपरासी की लाश पड़ी थी। मृतक के कनपटी से गोली आर-पार होकर दीवार से टकरा गई थी। सीने में तमंचा रखा था। दोनो हाथ पेट के पास अगल-बगल थे। इससे प्रतीत होता है कि हत्याकर आत्महत्या का रूप दिया गया है। लड़की के अभिवावक एवं रिश्तेदार विद्यालय से लापता हो गए। सूचना पाकर कोतवाली पुलिस मौके में पहुची और जांच पड़ताल की। बहरहाल संदिग्ध होने पर स्क्वायड टीम को बुलवाकर जांच कराया। उसके बाद शव का पंचनामा भरके पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। घटना की सूचना पाकर विधायक चंद्रपाल कुशवाहा, पूर्व विधायक विशंभर सिंह यादव सहित एसडीएम महेंद्र प्रताप सिंह, सीओ राजीव प्रताप सिंह ने मौके में जाकर हकीकत देखी। कोतवाली प्रभारी का कहना कि सीसी कैमरा की फुटेज देखने एवं स्क्वायड टीम की जांच से घटना का खुलासा हो जाएगा। मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की जायेगी। मृतक चतुर्थ श्रेणी चपरासी निहायत सीधा था। जो किसी को विश्वास नही हो रहा है कि ऐसी हरकत कर सकता है। हत्या की खबर सुनकर परिवार में हड़कंप मच गया। मृतक की पत्नी पुष्पा देवी एवं उसकी एक पुत्री वर्षा देवी, एक पुत्र आकाश का रो-रोकर बुरा हाल है। परिजनों ने चीख पुकार के साथ आरोप लगाते रहे कि जिस तरह से सीने में तमंचा रखा है, हत्याकर आत्महत्या का रूप दिया गया है। विद्यालय का स्टाफ भी हत्या करने वालों से मिला है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages