आजादी के दशकों बाद भी बदहाली पर आंसू बहा रहा छतुवापुर मार्ग - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Sunday, August 9, 2020

आजादी के दशकों बाद भी बदहाली पर आंसू बहा रहा छतुवापुर मार्ग

शिकायत के बावजूद समस्या का नहीं हो रहा निदान

फतेहपुर, शमशाद खान । प्रदेश में योगी सरकार के काबिज होते ही लोेगों में आस जागी थी कि अब जर्जर सड़कों व बिजली-पानी की समस्या से छुटकारा मिल जायेगा लेकिन ढाक के तीन पात वाली कहावत आज भी चरितार्थ हो रही है। आजादी के दशकों बाद भी बिन्दकी विधानसभा क्षेत्र के छतुवापुर मार्ग अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। ग्रामीणों द्वारा कई बार उच्चाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से मार्ग का निर्माण कराये जाने की मांग की गयी लेकिन आज तक उनकी मांग को पूरा नहीं किया गया। जिससे ग्रामीणों में खासा रोष व्याप्त है। 

खस्ताहाल छतुवापुर मार्ग का दृश्य।
यह मामला बिंदकी विधानसभा के छतुवापुर गांव का है। ग्रामीणों की मानें तो आज तक यहां के रास्ता के लिए शासन व प्रशासन के कानों में जूं तक नहीं रेंगी। लगातार दलदल से होकर गुजरना पड़ता है। कई बार इस मांग को लेकर ग्राम प्रधान के साथ-साथ बड़े अधिकारियों के पास ग्रामीणों ने शिकायत की फिर भी कुछ अराजकतत्वों के द्वारा रोड़ा लगाने के चलते रोड का विकास नहीं हो पाया। यहां के लोगों का मानना है कि रोड न होने के कारण काफी समस्याओं से जूझना पड़ता है और संघर्ष के बाद हम यहां से निकल पाते हैं। कुछ लोगों का मानना है कि बहन बेटियों की शादी में काफी मशक्कत करनी पड़ती है। शासन सत्ता में बैठे लोगों से मांग की गयी कि गरीबों के बारे में कुछ ध्यान दें और मार्ग का निर्माण कराया जाये। ग्रामीणों का कहना रहा कि कोई जनप्रतिनिधि उनकी ओर मुड़कर भी नहीं देख रहा है। लोगों को बरसात के दिनों में काफी मशक्कत के साथ निकलने को मजबूर होना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि रास्ता न होने चलते कई बार बच्चों की शादियां भी टूट गई। जिससे वह सभी बेहद मायूस हैं। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages