राखी, मिष्ठान दुकानो में हुई खरीददारी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Sunday, August 2, 2020

राखी, मिष्ठान दुकानो में हुई खरीददारी

दुकानदारों ने बरती पूरी एहतियात, जताई खुशी

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने रक्षाबंधन पर्व के मद्देनजर शनिवार और रविवार को लाकडाउन पर राखी व मिठाईयों की दुकाने खोलने के आदेश जारी किए हैं। जिससे व्यवसायियों में खुशी की लहर देखी गई। दुकानों में खरीददार मास्क व पूरा एहतियात बरत रहे हैं। 
गौरतलब हो कि सोमवार को रक्षाबंधन त्योहार के चलते राखी व मिठाई दुकानदारों में उहापोह की स्थिति बनी थी कि शनिवार व रविवार लाकडाउन के आदेश हैं। ऐसे में दुकानों में बेंचने के लिए मिष्ठान व राखी कैसे रख सकेंगें। व्यापारियों की मांग पर सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में रक्षाबंधन पर्व के मद्देनजर रविवार को लाकडाउन पर महज राखी व मिष्ठान दुकानों को खोलने के आदेश जारी कर दिया है। जिसके चलते दुकानदार सवेरे से दुकाने सजाकर बैठ गए। व्यवसायियों में खुशी का माहौल देखा गया। यह सूचना मिलते ही खरीददार दुकानों में पहुंच राखी व मिठाईयों की खरीद की है।
राखी की सजी दुकान।

मास्क लगाने की अपील
चित्रकूट। रक्षाबंधन पर्व के मद्देनजर मिठाई दुकानदारों ने दूरियां बनाकर ग्राहकों को मिष्ठान विक्रय किया। मास्क के बगैर खरीददारी करने वाले लोगों को मिठाई न देने की अपील करते रहे। दुकान के इर्द-गिर्द हाथो में सेनेटाइज कराते रहे। यही आलम राखी दुकानों पर देखा गया।

बसों पर मुफ्त यात्रा की सुविधा
चित्रकूट। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रक्षाबंधन पर बहनो को सुविधा प्रदान करते हुए राज्य परिवहन की बसो में आवागमन मुफ्त किया है। परिवहन विभाग ने महिलाओ को आवागमन करने के पूर्व सेनेटाइज व दो गज की दूरी बनाकर बसो में यात्रा करने की सलाह दी है। इस व्यवस्था से बहनो में खुशी का माहौल है। 

खाद्य विभाग निष्क्रिय, मिलावटखोर सक्रिय
चित्रकूट। कोरोना महामारी संक्रमण के दौरान प्रदेश सरकार ने आमजन को राहत प्रदान करने के लिए मिष्ठान व राखी की दुकाने खोलने के आदेश जारी किए हैं। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने बैठक में सीध्ेोतौर पर निर्देश दिए थे कि खाद्य टीम त्योहार के मद्देनजर सैम्पलिंग कर जांच पड़ताल करें। बावजूद इसके जिले की खाद्य विभाग टीम ने कहीं जांच करने की जरूरत नहीं समझी। ऐसे में मिठाई दुकानों में रंगी-बिरंगी महीनों पुराने खोवा से बनी मिठाईयां धडल्ले से बिकी। इस पर जनमानस में खासा आक्रोश रहा।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages