जेसीबी से खुदाई कर बेची जा रही लाखों की मिट्टी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, August 6, 2020

जेसीबी से खुदाई कर बेची जा रही लाखों की मिट्टी

प्रवासी कामगारों को नहीं मिल पा रहा मनरेगा से काम 

क्मासिन, के एस दुबे । प्रवासी मजदूरों को काम मिले, इसको लेकर ग्राम पंचायतों में मनरेगा योजना के तहत तालाबों में खुदाई का काम शुरू किया गया है। लेकिन इसके विपरीत ग्राम पंचायतों के जिम्मेदारों द्वारा जेसीबी मशीनों से खुदाई कर लाखों रुपए की मिट्टी बेचने का काम किया जा रहा है। जिसको लेकर गांव के लोगों में आक्रोश है। इस बिषय की जांच की मांग लगातार उठ रही है।

ब्लाक क्षेत्र अंतर्गत 55 ग्राम पंचायतों के अधिकांश गांवों में करोना काल में बाहर रह रहे प्रवासी मजदूर काफी संख्या में आ गए हैं। काम की कमी न हो इस उद्देश्य से सरकार ने मनरेगा योजना के तहत तालाबों के सुंदरीकरण हेतु खुदाई का काम शुरू कराया है। लेकिन ग्राम पंचायत पछौहां में 22 एकड़ क्षेत्रफल के बाला बाबा तालाब का सुंदरीकरण एवं जल संचयन हेतु खुदाई का काम शुरू किया गया है। पछौहां गांव के ग्रामीण जागेश्वर उपाध्याय ने बताया कि ग्राम प्रधान व सचिव दोनों की सांठगांठ से तालाब में जेसीबी मशीन से खुदाई का काम किया जा रहा है

खुदाई करती जेसीबी मशीन
जिसकी तालाब की तलहटी खुदाई से निकली लाखों रुपए की मिट्टी बेचकर मालामाल हो रहे हैं। तालाब के भीटे की भरपाई कर मरम्मत के लिए मिट्टी डालकर समतलीकरण का कार्य पूरा नहीं किया गया है। जिससे सार्वजनिक भीटे से राहगीरों जानवरों का निकलना मुश्किल है। वर्षा के कारण मिट्टी का कटाव भी हो रहा है। जानवरों के पानी पिलाने के जाने का रास्ता मात्र 6 फिट छोड़ा गया है।जो पर्याप्त नहीं है। बाला बाबा तालाब पर कथित लोग कब्जा कर रहे हैं। इस संबंध में लेखपाल सहित उप जिलाधिकारी बबेरू से तालाब पैमाइश कराकर अवैध कब्जे रोकने की जनहित में मांग की गई है। किंतु कार्यवाही नहीं हुई। गांव के लोगों का आरोप है कि यदि समय रहते कार्रवाई नहीं की हुई तो पूरे तालाब में अवैध कब्जा हो जाएगा और तालाब के सुंदरीकरण एवं जल संचयन योजना में शामिल शासन की मंशा के अनुरूप पूर्ति नहीं हो पाएगी। तालाब के भीटे में हल्की छिड़काव दार मिट्टी से जानवरों को भारी संकट से गुजरना पड़ता है। जानवरों को पीने के पानी के लिए गंभीर समस्या खड़ी हो गई है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages