गल्हिया के बाद अब देवरा में पसरा डेंगू - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, August 27, 2020

गल्हिया के बाद अब देवरा में पसरा डेंगू

एक की मौत,  छह ग्रामीण डेंगू के मरीज

 हमीरपुर, महेश अवस्थी  । पिछले एक माह से अभी तक क्षेत्र का गल्हिया गांव ही डेंगू से संक्रमित था, मगर अब डेंगू ने गल्हिया गांव से बाहर अपने पैर फैलाने शुरु कर दिये हैं। क्षेत्र के देवरा गांव में भी ग्रामीण डेंगू से संक्रमित पाये गये। देवरा में बुखार से एक ग्रामीण की जब मौत हो गई ।इसके बाद प्रशासन चौकन्ना हुआ । आज जब गांव में जांच की गई तो छह ग्रामीण डेंगू से संक्रमित पाये गये। गल्हिया गांव में आधा सैकड़ा लोग डेंगू से संक्रमित होकर विभिन्न अस्पतालों में अपना उपचार करा रहे है, जबकि अब तक गांव के सात लोगों की मौत बुखार के कारण हो चुकी है। गल्हिया गांव से निकलकर अब डेंगू का संक्रमण क्षेत्र के दूसरे गांव में भी दिखाई देने लगा है। क्षेत्र के देवरा गांव में मंगलवार को गांव के अरविंद राजपूत (45) की मौत बुखार के कारण ग्वालियर में उपचार के दौरान हो गई। गांव में कई और लोग बुखार से पीड़ित थे ।जब उन्होंने अरविंद की मृत्यु की खबर सुनी ,तो गांव में हड़कम्प मच गया।


उपजिलाधिकारी राठ अशोक कुमार यादव, नौरँगा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डा.संतोष मिश्रा एवं स्वास्थ विभाग की टीम के साथ देवरा गांव पहुंचे ।डा. सतोष मिश्रा ने बुखार की जांच की तो पाया कि गांव के छह लोगों में डेंगू संक्रमण के लक्षण है। डा. मिश्रा ने बताया कि प्रत्येक घर में डीडीटी एवं एंटी लार्वा का छिड़काव कराया गया है। ग्रामीणों को भी डीडीटी उपलब्ध करायी गई है। तहसील में जितने भी गांव है सभी गांवों में डेगू का परीक्षण कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि देवरा गांव में एक ही घर के अंदर हजारों की संख्या में डेंगू के लार्वा मिले है, जिन्हें नष्ट कर दिया गया। देवरा गांव में उमाकांती (21) पत्नी पवन, सत्यम (13) पुत्र मुन्ना, लक्ष्मी (30) पत्नी राजकिशोर, फूलवती (75) पत्नी लालदिवान, मानखां (22) पुत्र प्रेमखां, अतुल (11) पुत्र बृजकिशोर सभी जो छह लोग को डेंगू संक्रमित पाये गये । जिन्हें मेडीकल कालेज झांसी रेफर कर दिया गया है। एसडीएम ने ग्रामीणों से बात कर गांव में सफाई का विशेष ध्यान रखने की बात कही और कहा कि ग्रामीण ध्यान रखें कि कहीं भी पानी स्टोर न होने पाये और जहां गंदा पानी भरता हो वहां भी दवा का छिड़काव नियमित करें अथवा मिट्टी से पाटकर जगह को समतल कर दें।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages