अकीदत के साथ लोगों ने घरों में अदा की ईदुल अजहा की नमाज - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, August 1, 2020

अकीदत के साथ लोगों ने घरों में अदा की ईदुल अजहा की नमाज

कोरोना महामारी के खात्मे को दुआ में उठे हजारों हाथ
बगैर गले मिले एक दूसरे को पेश की मुबारकबाद 
सभी मस्जिदों के बाहर तैनात रहा भारी पुलिस फोर्स

बांदा, के एस दुबे । कोरोना वायरस ने लोगों की पूरी जिंदगी बदल दी है। नतीजे में उत्साह के साथ मनाए जाने वाले धार्मिक पर्व को लोग अब घरों पर ही मना रहे हैं। चैत्र नवरात्र, ईद के बाद अब ईदुल अजहा (बकरीद) भी बेहद खामोशी से मनाया गया। पूरे जिले में लोगों ने घर पर ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए ईदुल अजहा की विशेष नमाज अदा की। देश में अमन चैन के साथ-साथ वैश्विक महामारी के खत्मे के लिए दुआ मांगी। लोगों ने बगैर गले मिले एक दूसरे को बकरीद की मुबारकबाद पेश की। नमाज के बाद तीन दिवसीय कुर्बानी का सिलसिला शुरू हो गया। गरीबों और जरूरतमंदों के बीच कपड़ा और खाने पीने की वस्तु का वितरण भी किया।
घरों में बकरीद की नमाज अदा करते मुस्लिम भाई
कुर्बानी का पर्व बकरीद का त्योहार शनिवार को सौहार्दपूर्ण मनाया गया। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण बकरीद का उल्लास फीका रहा। कोरोना महामारी से बचाव को लेकर जिले के अकीदतमंदों ने अपने घरों में ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए विशेष नमाज अदा करते हुए एक दूसरे को ईद की बधाई दी। ईदगाह नमाजियों से सूना पड़ा रहा। जिले भर की सभी मस्जिदों के बाहर पुलिस का सख्त पहरा रहा। ईद की विशेष नमाज के बाद नमाजियों ने सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखकर बगैर गले मिले एक दूसरे को ईद की मुबारकबाद पेश की। बाबूलाल चैराहा स्थित ईदगाह समेत दो दर्जन से ज्यादा मस्जिदों के बाहर पुलिस फोर्स तैनात रहा। अलीगंज पुलिस चैकी में अपर जिलाधिकारी संतोष बहादुर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र सिंह चैहान, सिटी मजिस्ट्रेट सुरेंद्र सिंह, नगर क्षेत्राधिकारी आलोक मिश्र, कोतवाली प्रभारी दिनेश सिंह पूरे समय मौजूद रहे। शासन के निर्देश पर किसी को भी ईदगाह और मस्जिदों में सामूहिक नमाज पढ़ने की इजाजत नहीं दी गई। इसी तरह छिपटहरी स्थित शेख सरवर साहब की मस्जिद के बाहर भी भारी पुलिस फोर्स तैनात रहा। घरों में लोगों ने पकवान बनाए। ईद के मौके पर ताम लोगों ने गरीबों और जरूरतमंदों के बीच कपड़ा और खाने पीने की वस्तु का वितरण भी किया।
जामा मस्जिद के बाहर तैनात पुलिस

जगह-जगह पुलिस रही मुस्तैद
बांदा। ईदुल अजहा पर किसी भी प्रकार का व्यवधान व मस्जिदों में आसपास के मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में जगह-जगह पुलिस फोर्स तैनात रहा। चित्रकूटधाम मंडल पुलिस महानिरीक्षक के सत्यनारायण ने मुस्लिम बाहुल्य इलाकों का भ्रमण करते हुए सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीणा, नगर क्षेत्राधिकारी आलोक मिश्र, कोतवाली प्रभारी दिनेश सिंह समेत संबंधित थाना और चैकी प्रभारी पूरा दिन शांति व्यवस्था बनाए रखने के प्रयास में जुटे रहे। जिले की सभी मस्जिदों के इर्दगिर्द पुलिस फोर्स लगातार गश्त करता रहा।
अलीगंज चौकी में मौजूद पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी

नमाजियों से सूना रहा ईदगाह
बांदा। ईद उल फितर हो या फिर ईदुल अजहा (बकरीद)। मुस्लिमों के दोनों प्रमुख त्योहार पर शहर के इकलौते ईदगाह में हजारों मुस्लिम वर्ग के लोग सामूहिक नमाज अदा करते रहे हैं। लेकिन इस बार कोरोना वायरस संक्रमण के कारण ईद पर्व का उल्लास फीका रहा। कोरोना महामारी से बचाव को लेकर किए गए दो दिवसीय लाकडाउन को देखते हुए जिले के अकीदतमंदों ने ईदगाह के बजाए अपने घरों में ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बकरीद की नमाज अदा की। हजारों लोगों से भरा रहने वाला ईदगाह नमाजियों से सूना पड़ा रहा। 
इनसेट 
सामूहिक नमाज में उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां
बांदा। जहां एक ओर कोरोना के बचाव को लेकर केंद्र व प्रदेश सरकार सोशल डिस्टेंसिंग बनाने के लिए गंभीर दिख रही है। वहीं दूसरी ओर लोग कोरोना को लेकर अभी भी गंभीर नहीं है। कुछेक स्थानों पर बकरीद के मौके पर घरों में सामूहिक नमाज के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती नजर आईं। नमाजियों के चेहरे पर मास्क गायब रहे। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना भी नमाजी भूल गए। प्रशासन की की आंखों में धूल झोंक कर नमाजियों ने सोशल डिस्टेसिंग के पालन को ठेंगा दिखा दिया। कोतवाली प्रभारी दिनेश सिंह ने बताया कि लोगों से बार-बार सोशल डिस्टेंसिंग बनाने तथा मास्क लगाने की अपील की जा रही है। नियम का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages