कोरोना वायरस संक्रमित, देश वृद्ध की स्थिति में.................. - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Saturday, August 22, 2020

कोरोना वायरस संक्रमित, देश वृद्ध की स्थिति में..................

देवेश प्रताप सिंह राठौर,

स्वाबलंबी, (वरिष्ठ पत्रकार)

.............. कोरोनावायरस जैसे गंभीर संक्रमण से भारत की कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 30 लाख के लगभग हो गई है जब की मृत्यु दर भारत में अन्य देशों की अपेक्षा बहुत कम है, क्योंकि भारतीयों में युवाओं की संख्या अधिक है और वृद्ध लोग जो हैं 60 साल के ऊपर उन्हें इस संकट से बचने के लिए घर के बाहर जब ही निकले जब बहुत ही कोई आवश्यकता हो नहीं तो घर पर ही उनका रहना उचित एवं सुरक्षित है , सूत्रों द्वारा की जानकारी मिली है जिला स्तर से आप बड़े महानगर जिलों के हिसाब से कोरोना संक्रमित लोगों की वृद्धि में भी राजनीति चल रही है सुनने में आया है केंद्र द्वारा जो धन कोरोना वायरस संक्रमित रोगों के इलाज के लिए प्रदेशों को उपलब्ध कराया जा रहा है, उस पैसे को कुरौना वायरस संक्रमित की संख्या में वृद्धि के आधार पर लोग अपना धन उगाही का कार्य सरकारी तंत्र को दुरुपयोग करते हुए कोरोना वायरस संक्रमित घोषित कर देते हैं ऐसा सूत्रों द्वारा प्राप्त हुई है जानकारी परंतु विश्वास के साथ यह मैं दावा नहीं कर सकता लेकिन मैंने बहुत से स्थानों को प्रदेश में चयनित

किसके उस जगह जांच कराने की मांग की गई थी सीएमओ स्तर से मेरी बात हुई परंतु कहीं भी गंभीरता से किसी विषय को ना लेना यह जो कोरोना वायरस से सब बचते हो डरते देखे हैं आज यह दशा है कोई घर में बीमार पड़ जाए किसी को कोई दिक्कत आ जाए तो डॉक्टर भी सरकारी अस्पतालों में देखने के लिए उपलब्ध नहीं है ।जिनके पास अपार पैसा है वह तो प्राइवेट में चले जाएंगे लेकिन सरकारी अस्पतालों में बहुत ही कोरोना वायरस के कारण उसके बचाव को देखते हुए ओपीडी बिल्कुल बंद है ।बहुत हालत खराब है चाहे डॉक्टर हो चाहे कोई भी हो जिंदगी सबको अपनी अपनी प्यारी होती है लेकिन मैं आज उन डाक्टरों को प्रणाम करता हूं जो कोरोनावायरस संक्रमित लोगों का इलाज करने में कतई लापरवाही नहीं कर रहे हैं पूर्व से उनका ध्यान दे रहे हैं आज सफाई कर्मी से लेकर डॉक्टर जिला प्रशासन पुलिस जिस तरह से पुलिस आज सभी लोग देश के हित के लिए कोरोनावायरस संक्रमित वातावरण में रहकर अपने बचाव करते हुए ड्यूटी दे रहे। हम उन्हें ह्रदय से नमस्कार करते हैं, तथा उनकी हिम्मत लगन सेवा जोक इतनी दिक्कतों के बावजूद हर जनमानस तक पहुंचा कर पूरा ध्यान दे रहे हैं ।वह काबिले तारीफ आज हमारा उन लोगों से विशेष निवेदन है जो लोग बूढ़े मां बाप को सब्जी लेने अन्य कार्य के लिए भेजते हैं उन्हें बाहर ना भेजें उन्हें घर पर रखकर उनकी घर में सेवा करें क्योंकि गुरु नानक कर्मी अधिक उम्र होने पर उसमें संक्रमित होने के लक्षण जल्दी खेलते हैं अधिक उम्र वाले लोग आमतौर पर संक्रमण के लिहाज से ज्यादा जोखिम में होते हैं.ह स्पष्ट नहीं है कि दूसरे कोरोना वायरसों से हुए पिछले संक्रमण से पैदा हुई इम्यूनिटी जैसे अन्य फैक्टर भी इस कम मृत्यु दर के लिए जिम्मेदार हैं या नहीं.साथ ही यह ऐसे दक्षिण एशियाई देशों में कम मृत्यु दर के एक ही पैटर्न की ओर भी इशारा करता है जहां पर भारत जैसी ही युवा आबादी है. मसलन, बांग्लादेश में प्रति 10 लाख मरने वालों का आंकड़ा 22 है, जबकि पाकिस्तान में यह आंकड़ा 28 का है.भारत साफ़तौर पर यूरोप और अमरीका के मुकाबले कहीं अच्छी स्थिति मे  हैं कि भौगोलिक तुलनाओं के महत्व की सीमाएं हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages