अगले माह तक पांच गांव हों सुपोषित: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, August 27, 2020

अगले माह तक पांच गांव हों सुपोषित: डीएम

खनन क्षेत्र के बच्चों को सीएसआर फंड से करें व्यवस्था

रामनगर, मानिकपुर में पोषण पुर्नवास केन्द्र खोलने के निर्देश

वजन मशीन उपलब्ध न कराने पर रोका वेतन

सीएमएस को दी प्रतिकूल प्रविष्टि

चित्रकूट सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में पोषण अभियान के क्रियान्वयन व अनुश्रवण के संबंध मे डिस्ट्रिक्ट कन्वर्जेंस प्लान कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।

जिलाधिकारी ने बाल विकास परियोजना अधिकारियों को निर्देश दिए कि पोषण पुनर्वास केंद्र में निर्धारित लक्ष्य के अनुसार कुपोषित बच्चों को भर्ती कराकर उन्हें स्वास्थ्य लाभ दिलाया जाए। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को निर्देश दिए कि केंद्र में बेड़ों की व्यवस्था कराएं और प्रत्येक ब्लॉक के लक्ष्य निर्धारित करते हुए लिखित दें कि किस ब्लॉक का बेड खाली माह में रहा है। जिला कार्यक्रम अधिकारी को रिपोर्ट दिया जाए। ताकि संबंधित बाल विकास परियोजना अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जा सके। मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कहा कि आरबीएसके

बैठक में निर्देश देते डीएम।

टीम को सक्रिय कर स्वास्थ्य परीक्षण बच्चों का अधिक से अधिक कराएं। मानिकपुर क्षेत्र में जो स्वयंसेवी संस्था बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण पर कार्य कर रही है उसकी समीक्षा मुख्य विकास अधिकारी से कराएं। जिलाधिकारी ने कहा कि खनन क्षेत्र के एरिया में खनिज विभाग से संपर्क कर बच्चों के लिए सीएसआर फंड से व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि नियमित रूप से कोई भी बेड खाली न रहे। इसके अलावा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामनगर व मानिकपुर में भी पोषण पुनर्वास केंद्र को शुरू कराया जाए। आंगनबाड़ी केंद्रों के निर्माण पर जिला कार्यक्रम अधिकारी से कहा कि जिन गांव में जमीन के मामले कोर्ट पर चल रहे हैं उसे अवगत कराएं तथा जो निर्माणाधीन है उन्हें तत्काल पूर्ण कराया जाए। जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए कि सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर शौचालय, पेयजल, विद्युतीकरण का कार्य तीन दिन के अंदर कराकर अवगत कराएं। वजन मशीनें नहीं उपलब्ध कराने पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा जिला पंचायत राज अधिकारी से जवाब तलब किया। तब तक वेतन आहरित न किया जाए जब तक सभी जगह वजन मशीनों के पहुंचने की सूचना जिला कार्यक्रम अधिकारी न दें। उन्होंने कहा कि पोषण वाटिका सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर अगली बैठक के पहले अवश्य करा लें। सुपोषित गांव के सभी कार्य शुरू कराएं। अगले माह में कम से कम पांच गांव अवश्य सुपोषित हो जाए। बाल विकास परियोजना अधिकारियों से कहा कि कोविड-19 महामारी को देखते हुए सभी कुपोषित बच्चों को स्वास्थ्य लाभ दिलाया जाएै। किसी भी स्तर पर लापरवाही न बरतें। रोगी कल्याण समिति की बैठक न कराने पर सीएमएस को प्रतिकूल प्रविष्टि दी। कहा कि अगर अगले माह बैठक नहीं कराते हैं तो निलंबन की कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाए। इस मौके पर डीएम ने पोषण संबंधी विभिन्न बिंदुओं की बिन्दुवार समीक्षा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं। बैठक में सीडीओ अमित आसेरी, सीएमओ डॉ विनोद कुमार, डीपीआरओ संजय कुमार पांडेय, सीएमएस डॉ आरके गुप्ता, डीपीओ मनोज कुमार, डीएसओ धु्रवराज यादव, बीएसए प्रकाश सिंह, डीसी मनरेगा दयाराम यादव, जिला समाज कल्याण अधिकारी नीलम सिंह सहित संबंधित अधिकारी व बाल विकास परियोजना अधिकारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages