युवक को घेरकर बरसाई ताबडतोड लाठियां, हत्या - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, August 10, 2020

युवक को घेरकर बरसाई ताबडतोड लाठियां, हत्या

सात हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। पूजा करने जाते समय दबंगों ने युवक पर जानलेवा हमला कर मौत के घाट उतार दिया। घटना से गुस्साए परिजन व ग्रामीणों ने हाईवे पर शव रख जाम लगाते हुए पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सूचना पर पहुंचे एसपी, एएसपी ने कार्यवाही का भरोसा देकर मामला शांत कराया। मृतक के बडे भाई की तहरीर पर सात हमलावरों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज हुआ है।

हत्या की ये वारदात मऊ थाना क्षेत्र के तिलौली गांव के मजरा शेषासुबकरा में रविवार की देर शाम की है। बताया गया कि सुशील गौतम (28) पुत्र भूपत गौतम मंदिर पूजा करने जा रहा था। तभी गांव के ही पांच-छह युवकों ने घेर लिया। पुरानी रंजिश के चलते लाठी-डंडे व धारदार हथियार से लैस होकर गालीगलौज करते हुए पिटाई शुरू कर दी। मरणासन्न होने पर हमलावर भाग निकले। कुछ देर बाद स्थानीय लोगों की सूचना पर परिजन पहुंचे और आनन-फानन सीएचसी ले गए। जहां घायल ने दम तोड दिया। जिससे आक्रोशित परिजन शव लेकर थाना पहुंचे। रिपोर्ट दर्ज न किए जाने से गुस्सए ग्रामीणों ने झांसी मिर्जापुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर शव रखकर जाम लगा दिया। जिससे सड़क के दोनों ओर सैकड़ों वाहनों की कतारें लग गई। देर रात तक जाम लगा रहा। सूचना पर एसपी अंकित मित्तल, एएसपी प्रेमप्रकाश पाण्डेय पुलिस बल के साथ पहुंचे। जहां परिजनों को कार्यवाही का भरोसा देकर मामला शांत कराया है। मृतक सुशील के बडे भाई संजय गौतम पु्त्र भूपत गौतम की तहरीर पर हमलावर राधेश्याम मिश्रा, प्रधान तिलौली बालकृष्ण मिश्रा, विद्यासागर मिश्र, लक्ष्मी नारायण मिश्र पुत्रगण बालानाथ मिश्रा व गोलू मिश्रा पुत्र दीपनरायण, ऋषिमुनि मिश्रा पुत्र राधेश्याम मिश्रा, अश्वनी मिश्रा पुत्र बालकृष्ण मिश्रा निवासीगण तिलौली के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है। 

मृतक की फाइल फोटो।


पूजा करने जा रहा था मृतक

चित्रकूट। मृतक युवक के बड़े भाई संजय गौतम ने बताया कि उनका एक घर मऊ कस्बे के शिवपुर में भी है। मृतक सुशील रविवार को तिलौली गांव में अपनी खेती देखने गया था। ट्यूबवेल के पास बने मंदिर में प्रतिदिन की तरह पूजा करने जा रहा था। 

तीन घन्टे तक हाईवे जाम, कार्यवाही की मांग

चित्रकूट। मऊ थाना क्षेत्र के तिलौली गांव के माजरा शेषासुबकरा गांव में बीती देर शाम सुसील गौतम की दबंग ग्राम प्रधान व उसके साथियों द्वारा लाठी डंडों कुल्हाड़ी से हमला कर हत्या किये जाने के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने राष्ट्रीय राज्य मार्ग पर शव रख कर जाम लगाते हुए थानाध्यक्ष के खिलाफ नारेबाजी शुरु कर दी। जाम की सूचना पर पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल, अपर पुलिस अधीक्षक प्रेम प्रकाश पाण्डये भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुच गए। जहाँ ग्रामीणों को समझाने का काफी प्रयास किया। ग्रामीणों की मांग थी लापरवाह थानाध्यक्ष सुभाष चंद्र चैरसिया को निलंबित किया जाए। हत्यारो की तत्काल गिरिफ्तारी हो। इस पर एसपी ने ग्रामीणों को दोषियों पर कार्यवाही का आश्वाशन देकर जाम खुलवाया। 

हमलावर बरसा रहे थे लाठियां, नहीं पहुंची पुलिस 

चित्रकूट। मंदिर से पूजा कर लौट रहे युवक पर जैसे ही हमलावरों ने जानलेवा हमला बोला तो आसपास मौजूद लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने ग्रामीणों की बात को अनसुना करते हुए कोई कार्यवाही नही की। ताज्जुब की बात यह रही कि घटना स्थल के समीप से होकर गुजर रहे थानाध्यक्ष सुभाष चैरसिया को स्थानीय लोगो ने जानकारी दी तो उन्होंने सूचना देने वालो को ही कह दिया कि घायल को अस्पताल में दाखिल करा दो। यह बात कह थाने की और चले गए। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताविक थाना प्रभारी मामले को गंभीरता से लेते तो शायद सभी हमलावर मौके पर गिरफ्तार हो जाते। इतना ही नही घायल को समय से अस्पताल भी पहुचाया जा सकता था। 

पूर्व के विवाद में मृतक जा चुका है जेल

चित्रकूट। चुनावी रंजिश पर चार वर्ष पूर्व दोनों पक्षों में लाठी, डंडे, गोलियां चली थी। जिसमे मृतक सुसील समेत पांच लोगो के खिलाफ जानलेवा हमले का मामला पंजीकृत किया गया था। सभी जेल से जमानत पर थे। न्यायालय में मुकदमा चल रहा था। मृतक के भाई संजय गौतम ने बताया कि उस समय भी षडयंत्र के तहत फंसाया गया था और मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया था। बताया कि संजय गौतम व दीपनारायण बीडीसी का चुनाव लड़े थे। जिसमें दीपनारायण ही चुनाव जीता था। जिसके बाद से हमलावर खुन्नस मानते थे।

लाक डाउन में लौटा था घर, परिजनों में कोहराम

चित्रकूट। सुसील की मौत की खबर जब उसके परिजनों को लगी तो परिवार में कोहराम मच गया। मृतक के भाई संजय गौतम ने बताया की मृतक तीन भाई में दूसरे नंबर का था। मुम्बई में रह कर एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था। लॉक डाउन में वह घर आया हुआ था। मृतक सुसील के एक पुत्र आर्यन (8) व पुत्री स्वाती (6) है। घटना के बाद से मृतक की पत्नी गीता देवी का रो रो कर बुरा हाल है। माँ मुन्नी देवी बेटे की मौत की खबर सुन बदहवास हो गई। घटना के बाद से इलाके में दहशत है। 

दम तोड़ने के पहले बताया हमलावरों के नाम

चित्रकूट। मृतक सुसील ने दम तोड़ने से पहले परिजनों को हमलावरों के नाम बता दिए थे। मृतक के भाई संजय गौतम ने बताया कि जैसे ही उन्हें पता चला कि उसके भाई पर दबंगो ने प्राणघातक हमला कर उसे बेहोसी हालत में छोड़ कर भाग गए हैं तो वह परिजनों के साथ मौके पर पहुचा। जहाँ सुसील की सांसें चल रही थी। दम तोड़ने से पहले परिजनों को हमलावरों को नाम बताया और बेहोस हो गया था। परिजन आनन फानन समुदायिक स्वथ्य केंद्र ले गए। जहाँ डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages