भूमि पूजन के बाद अटल जन शक्ति संगठन के कार्यकर्ताओं के सौजन्य सैकड़ों लोगों ने छका भंडारा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, August 6, 2020

भूमि पूजन के बाद अटल जन शक्ति संगठन के कार्यकर्ताओं के सौजन्य सैकड़ों लोगों ने छका भंडारा

दागे गए  गोले

जगम्मनपुर(जालौन), अजय मिश्रा । भगवान श्रीराम की जन्म स्थली अयोध्या में  जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मंदिर का भूमि पूजन किया तो कस्वा जगम्मनपुर में भ्जमकर ढोल-नगाड़े बजे. लोगों ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाई और मंदिर निर्माण के शुरू होने की शुभकामनाएं भी दी।

श्रीराम मंदिर भूमि पूजन के अवसर पर शिव मंदिर में अटल जन शक्ति संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमन नारायण अवस्थी द्वारा हवन पूजन किया तथा भूमि पूजन की खुशी में अटल जन शक्ति संगठन के द्वारा बाजार में लोगों को लडडू बटवा कर राम भक्तों का उत्साह बर्धन किया तथा जगम्मनपुर में कई स्थानों पर धार्मिक आयोजन किए, अटल जन शक्ति संगठन के द्वारा शाम को शिव मंदिर पर रंगोली बनाकर, जय श्री राम लिखकर व सैकड़ो दीप जलाकर जय श्री राम के नारों के साथ पटका चलाकर खुशी का जाहिर की व भजन कीर्तन का आयोजन किया गया उसके उपरांत कार्यालय पर सैकड़ों दीप जलाकर जय श्री राम के नारों के साथ एक दूसरे को मिठाई खिलाकर अपनी खुशी व्यक्त  की कार्यक्रम का आयोजन अटल जन शक्ति संगठन के अध्यक्ष अमन नारायण अवस्थी व

मंदिर में दीपक जलाते रामभक्त।
पदाधिकारीयों द्वारा किया गया। इस दौरान संगठन के राष्ट्रीय सचिव योगेन्द्र नारायण त्रिपाठी, राष्ट्रीय कार्यालय सचिव लालजी द्विवेदी, राष्ट्रीय प्रवक्ता पुष्पेन्द्र शास्त्री,प्रदेश कार्यालय सचिव प्रशांत ठाकुर, प्रदेश विस्तारक प्रतुल औदीच्य, जिला मीडिया प्रभारी घनश्याम सेंगर, जिला कार्यकारिणी सदस्य योगेश पाण्डेय, करन लक्ष्यकार, ऋषभ सेंगर, दीपेश रावत, मोहित सेंगर, सत्यम निषाद,शिवम सेंगर, आयुश शुक्ला, श्याम सेंगर, बलवीर सेंगर, राघव जी, हिमांशु द्विवेदी, भरत, मोहित पाल, मुकेश, नीशू आदि उपस्थित रहे तथा संगठन के द्वारा कस्वा जगम्मनपुर में सैकड़ों लोगों के घर अथवा दुकानों पर भगवा ध्वज लगाए इसके बाद संगठन के जिला मीडिया प्रभारी घनश्याम सेंगर द्वारा सेकंडों लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए भोजन कराया। समाजसेवी डा. आर के मिश्रा ने कहा कि यह दिन सनातन संस्कृति के लिए ऐतिहासिक दिन है जो सैकड़ों साल बाद करोड़ों लोगों का सपना पूरा हुआ है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages