कार्यशाला में एसडीएम ने लेखपालों, सचिवों को दिया प्रशिक्षित - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, August 6, 2020

कार्यशाला में एसडीएम ने लेखपालों, सचिवों को दिया प्रशिक्षित

कोंच(जालौन), अजय मिश्रा । स्थानीय सेठ विन्द्रावन इंटर कॉलेज के सभागार में गुरुवार को आयोजित प्रशिक्षण कार्यशाला में एसडीएम अशोक कुमार ने लेखपालों व सचिबों को बताया कि प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय पंचायत दिवस के दिन स्वामित्व योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत गांव की जमीन की वैज्ञानिक तरीके से ड्रोन का इस्तेमाल करते हुए पैमाइश की जाएगी। स्वामित्व योजना गांव की संपत्तियों का सही आकलन करने का प्रयास है। इस योजना के तहत देश के सभी गांवों की संपत्ति की ड्रोन से मैपिंग की जाएगी। गांव के लोगों को एक मालिकाना प्रमाणपत्र दिया जाएगा। संपत्ति को लेकर जो भ्रम की स्थिति रहती है वो दूर हो जाएगी। इससे गांव में विकास योजनाओं की प्लानिंग सही तरीके से हो सकेगी। वैज्ञानिक तकनीक के जरिए मालिकाना हक से गांवों के निवासी अपनी संपत्ति का वित्तीय उपयोग कर पाएंगे। गांवों के आवासीय क्षेत्र का रिकॉर्ड पंचायतों को प्रदान कर सकेंगे। इससे

प्रशिक्षण में बैठे पंचायत सचिव व लेखपाल।
संपत्तियों को कर के दायरे में ला जा सकेगा और इससे आसानी से कर संग्रह संभव हो पाएगा। इस आमदनी से पंचायतें ग्रामीण क्षेत्र में अच्छी सुविधा दे पाएंगी। संपत्ति के स्पष्ट आकलन और मालिकाना हक का निर्धारण होने से उनके कीमतों में तेजी आएगी। ड्रोन सर्वेक्षण तकनीक के उपयोग से ग्राम पंचायत के पास गांव का सटीक रिकॉर्ड और मानचित्र होगा। जिसका उपयोग कर वसूली, भवन निर्माण के लिए परमिट जारी करने में, अवैध कब्जा समाप्त करने आदि के लिए किया जा सकता है। शहरों की तरह ही गांवों में भी आप बैंकों से लोन ले सकते हैं। जब आपके पास स्वामित्व होगा तो उस संपत्ति के आधार पर आप बैंक से लोन ले सकते हैं जो जीवन में काफी काम आ सकता है। लेखपालों को उन मानचित्रों जो ड्रोन के जरिए लिए जाएंगे, का सत्यापन और चिन्हांकन करना है, प्रपत्र 5 भर कर उन्हें फीडिंग के लिए पंचायती राज विभाग को भेजना है। इस मौके पर समस्त लेखपाल उपस्थित रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages