दो सैकड़ा परिवार रोज झेलते हैं पेयजल किल्लत - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Sunday, August 9, 2020

दो सैकड़ा परिवार रोज झेलते हैं पेयजल किल्लत

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। सीतापुर तीर्थराजपुरी के दो सौ से अधिक अनुसूचित जाति परिवारों को दशकों से पेयजल की दुश्वारियां झेलनी पड़ रही है। आज भी यहां स्टैंड पोस्ट नलों में सुबह-शाम डिब्बों की लंबी कतारें लगती है और रोज पानी के लिए मारामारी मचती है। बुन्देली सेना ने इस समस्या को लेकर सीएम पोर्टल में शिकायत दर्ज करा समस्या निराकरण की मांग की है।

बुन्देली सेना के जिलाध्यक्ष अजीत सिंह ने बताया कि दुर्भाग्य की बात है कि दशकों से अनुसूचित जाति बस्ती में यह समस्या बरकरार है, लेकिन किसी ने सुध नहीं ली। मेन रोड में तो जल निगम ने हाल ही में नई पाइप लाइन डाली

पेयजल लेने को लाइन में रखे डिब्बे।
है, किन्तु गलियों में समस्या आज भी ज्यों की त्यों है। अनुसूचित बस्ती इतनी संकरी है कि यहां हैंडपंप अधिष्ठापना संभव नहीं है। केवल दो-तीन स्टैंड पोस्ट नल लगे हुए हैं और इन्हीं नलों के सहारे सैकड़ों परिवारों को पेयजल मुहैया होता है। स्टैंड पोस्ट नलों में दर्जनों डिब्बों की कतार लगती है और रोज मोहल्ले के लोग पानी संकट से दो-चार होते हैं। दशकों से पेयजल की यह दुश्वारियां लोग झेलते आ रहे हैं। जल संस्थान का कहना है कि गलियों में बहुत पुरानी लाइनें पड़ी हैं उनसे जितनी सप्लाई मिल रही है उतनी ही मिलेगी। समस्या का समाधान तब सम्भव है जब गलियों में भी नई पाइप लाइनें डाली जाएं। बुन्देली सेना ने इस मोहल्ले के पेयजल संकट समाधान के लिए सीएम पोर्टल में शिकायत दर्ज कराई है। साथ ही जिलाधिकारी से भी मांग की है कि समस्या समाधान कराया जाये।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages