डीएम-एसपी ने मंडल कारागार का किया निरीक्षण - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Friday, August 28, 2020

डीएम-एसपी ने मंडल कारागार का किया निरीक्षण

कोरोना संक्रमण को लेकर सावधान रहने के दिए निर्देश 

बांदा, के एस दुबे । शुक्रवार को जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल और पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीणा ने मंडल कारागार का निरीक्षण किया। अधिकारियों को देखकर स्टाफ में हड़कंप मच गया। प्रभारी जेल अधीक्षक से कोरोना से बचाव के बारे में जानकारी ली। लगभग 50 मिनट के निरीक्षण में अफसरों ने जेल की बैरकों और रसोई घर समेत बैरकों का घूम-घूम कर निरीक्षण किया। डीएम व एसपी ने बंदियों से खाने के साथ कोरोना से बचाव को पर्याप्त बंदोबस्त के बारे में भी जाना। बंदियों ने उन्हें बताया कि नियमित हाथ धोने के साथ खान-पान में भी सावधानी बरत रहे हैं। डीएम ने सोशल डिस्टेसिंग का पूर्ण रूप से पालन करने व दिन में कई बार हाथ धोने को अपील की। कोरोना का संकट दिनों दिन देश में बढ़ रहा है। शासन प्रशासन हर स्तर पर लोगों को वायरस से बचाने के प्रयास में लगा है। जेल के बंदियों को भी कोरोना से बचाव को हर प्रयास प्रशासनिक और पुलिस

कारागार का निरीक्षण कर बाहर निकलते डीएम और एसपी

अधिकारी कर रहे हैं। अधिकारियों को भी बंदियों को मास्क, हाथ धोने को साबुन व सैनिटाइजर की कमी नहीं होने देने को निर्देशित किया। डीएम और एसपी ने मंडल कारागार में बनाई गई क्वारंटीन बैरक का निरीक्षण करते हुए व्यवस्थाओं का जायजा लिया। क्वारंटीन बैरिक में रखे गए बंदियों के बारे में जानकारी ली। प्रभारी जेल अधीक्षक आरके सिंह ने बताया कि जेल आने वाले नए बंदियों को 14 दिनों तक इसी क्वारंटीन बैरक में रखा जाता है। दो सप्ताह बाद स्वास्थ्य परीक्षण के बाद जेल की दूसरी बैरक में स्थानांतरित किया जाता है। जेल में कोरोना संक्रमण रोकथाम की व्यवस्थाओं पर डीएम और एसपी ने संतोष जताया और प्रभारी जेल अधीक्षक के कार्यों की सराहना की। कहा कि यहां ठहरने वाले बंदी को किसी प्रकार की कमी न रहने दी जाए। डॉक्टर को निरंतर ड्यूटी देने को प्रेरित किया। इस मौके पर डिप्टी जेलर वीरेश्वर सिंह समेत तमाम प्रधान बंदी रक्षक और बंदी रक्षक उपस्थित रहे। इधर, यहां कोविड-19 गाइड लाइन के बारे में जेल अधीक्षक से जानकारी की। इस दौरान उन्होंने कहा कि बगैर कोरोना जांच के किसी भी बंदी या कैदी को जेल में दाखिल न होने दिया जाए। सभी बंदियों को गर्म पानी के साथ काढ़ा दिया जाए। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages