सपा जिलाध्यक्ष ने नाकामियां गिना योगी सरकार को घेरा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, August 8, 2020

सपा जिलाध्यक्ष ने नाकामियां गिना योगी सरकार को घेरा

सपा शासनकाल में की गयी व्यवस्थाओं को भाजपा सरकार ने किया चैपट

अदूरदर्शिता व गलत नीतियों के चलते बिगड़ रही स्थिति 

फतेहपुर, शमशाद खान । कोविड-19 वैश्विक महामारी का प्रकोप धीरे-धीरे जिले में बढ़ता ही जा रही है। प्रदेश सरकार की व्यवस्थाओं पर सवाल उठाते हुए समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष विपिन सिंह यादव ने कहा कि योगी सरकार सभी मोर्चों पर विफल हो रही है। कोरोना मरीजों का समुचित इलाज नहीं हो रहा है। सपा शासनकाल में की गयी व्यवस्थाओं को भाजपा सरकार ने चैपट कर दिया है। अदूरदर्शिता व गलत नीतियों के चलते स्थिति बिगड़ रही है। जनता इसका जवाब भाजपा सरकार से चाहती है। 

शनिवार को एक विज्ञप्ति जारी कर समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष विपिन सिंह यादव ने योगी सरकार पर जमकर तीर चलाये। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य सेवाएं स्वयं बुरी तरह बीमार हैं। स्थिति इतनी गम्भीर है कि सत्तारूढ़ दल के ही एक दर्जन मंत्री व विधायक कोरोना की चपेट में है। इतना ही नहीं एक कैबिनेट मंत्री की दुखद मृत्यु भी हो गयी

सपा जिलाध्यक्ष विपिन सिंह यादव।
है। उन्होने कहा कि प्रदेश के साथ-साथ अपने जनपद में भी प्रतिदिन कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। जिला प्रशासन द्वारा कोई उचित सुविधाएं कोरोना मरीजों को नहीं दिलायी जा रही है। उन्होने कहा कि कोरोना मरीजों के इलाज के नाम पर सिर्फ खानापूरी की जा रही है। कंटेनमेंट एरिया में सिर्फ बांस-बल्ली गाड़कर प्रशासन इतिश्री कर रहा है। उन्होने कहा कि सभी मोर्चों पर प्रदेश सरकार विफल हो चुकी है। अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए योगी सरकार तरह-तरह के हथकण्डे अपना रही है। उन्होने कहा कि कोरोना वारियर्स भी अब सरकारी उपेक्षा का शिकार हो रहे हैं। जब उन्हें ही घटिया खाना दिया जायेगा तो उनका मनोबल घटना तय है। श्री यादव ने कहा कि सपा शासनकाल में स्वास्थ्य सेवाओं को बहाल किया गया था। मरीजों के लिए 108 व 102 एम्बुलेन्स सेवाएं व एक रूपये के पर्चे पर इलाज व सभी जांचे मुफ्त एवं गम्भीर रोगों कैंसर, किडनी, दिल व लीवर के भी मुफ्त इलाज की व्यवस्था की गयी थी। भाजपा सरकार ने सभी व्यवस्थाओं को चैपट कर दिया है। उन्होने कहा कि कानून व्यवस्था की तरह कोरोना बीमारी भी पूरी तरह से अराजक हो चली है। यदि हालात यही रहे तो प्रदेश की स्थिति भयावह हो जायेगी। मुख्यमंत्री अपने दायित्वों के निर्वहन से विरत क्यों हैं? जनता इसका जवाब मांग रही है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages