सरकारी सेवा में आना और सेवानिवृत्त होना सतत प्रक्रियाः मिश्रा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Friday, July 31, 2020

सरकारी सेवा में आना और सेवानिवृत्त होना सतत प्रक्रियाः मिश्रा

जालौन (उरई), अजय मिश्रा । सरकारी सेवा में जो व्यक्ति आते हैं उन्हें सेवानिवृत्त होना ही पड़ता है। लेकिन व्यवहारिक जीवन में पुलिस कर्मी कभी भी सेवानिवृत्त नहीं होतें। वे हमेशा समाज का मार्गदर्शन करते रहते हैं। यह बात कोतवाली प्रभारी ने एसआई त्रिलोकी नाथ मिश्र की सेवानिवृत्ति पर कोतवाली में आयोजित एक सादा समारोह में कही। इस दौरान सेवानिवृत्त एसआई को उपहार व श्रीफल देकर सम्मानित किया गया। 
कोतवाली में तैनात रहे एसआई त्रिलोकीनाथ मिश्र शुक्रवार को सेवानिवृत्त हुए। उनकी सेवानिवृत्ति पर कोतवाली में आयोजित एक सादा समारोह में कोतवाल रमेशचंद्र मिश्र ने कहा कि पुलिस का सेवा कार्य 24 घंटे का होता है। जो काफी काफी कठिनाई भरा होता है। पुलिस की नौकरी में व्यक्ति अपने व्यक्तिगत, समाज एवं संबंधों से लगभग कट
सेवानिवृत्त एसआई को सम्मानित करते इष्टमित्र।
सा जाता है। उसे इनमें सम्मिलित और हिस्सा लेने का वक्त ही नहीं मिल पाता है। सेवानिवृत्त के बाद अब वह अपना अधिक से अधिक समय अपने परिवार व समाज और संबंधियों के बीच व्यतीत कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि सरकारी सेवा में जो व्यक्ति आते हैं उन्हें सेवानिवृत्त होना ही पड़ता है। लेकिन व्यवहारिक जीवन में पुलिस कर्मी कभी भी सेवानिवृत्त नहीं होतें। वे हमेशा समाज का मार्गदर्शन करते रहते हैं। वहीं, सेवानिवृत्त हुए एसआई ने भी सभी साथियों के सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया। इस मौके पर एसएसआई आंनद कुमार, चैकी प्रभारी संजीव दीक्षित, एसआई गंगासागर, देशराज, सचिन शुक्ला, रामचंद्र, रामनरेश समेत समस्त कोतवाली स्टाॅफ उपस्थित रहा।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages