शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार सफाई अभियान चलाया जाए - अनुराग श्रीवास्तव - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, July 30, 2020

शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार सफाई अभियान चलाया जाए - अनुराग श्रीवास्तव

बांदा, के एस दुबे - जनपद बांदा में कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित की जायें तथा कोविड-19 से संक्रमित मरीजों को पौष्टिक भोजन तथा चिकित्सा सुविधायें उपलब्ध करायी जाये। प्रमुख सचिव नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति श्री अनुराग श्रीवास्तव ने उपरोक्त निर्देश सर्किट हाउस सभागार में कोविड-19, संचारी रोग, स्वच्छता अभियान तथा पेयजल आपूर्ति की समीक्षा हेतु सम्पन्न बैठक में दिये। उन्होंने कहा कि शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार सफाई अभियान चलाया जाए जिससे संचारी रोंगो को फैलने से रोका जा सके। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में नालों की सफाई सुनिश्चित करा ली जाए जिससे जल भराव की समस्या न हो। उन्होंने कहा कि जिन विभागों के अधिकारी व कर्मचारी कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए ड्यूटी कर रहे हैं, उन्हें प्रीवेन्टिव रूप में दवायें दी जायें जिससे वे स्वयं तथा उनका परिवार कोरोना संक्रमण से बच सके। प्रमुख सचिव श्री श्रीवास्तव ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि ओ0पी0डी0 सेवायें लगातार संचालित रखी जायें तथा मरीजों को अस्पताल से ही दवा उपलब्ध करायी जायें। उन्होंने कहा कि जहां कोविड-19 के रोगी पाये जाते हैं वहां कान्ट्रेक्ट टेªसिंग का कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता पर किया जाए तथा जो लोग ज्यादा सम्पर्क में रहे हैं उनका यथा शीघ्र टेस्ट कराया जाए। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि सभी सरकारी कार्यालयों में सेनिटाइजेशन प्रतिदिन कराया जाए।
प्रमुख सचिव ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वेन्टीलेटर्स की पर्याप्त व्यवस्था कर ली जाए तथा पी0पी0ई0 किट व सेनेटाइजर की पर्याप्त व्यवस्था रखी जाए जिससे स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी संक्रमण से बच सके। उन्होंने कहा कि नई पेयजल  योजनाओं का कार्य शीघ्र प्रारम्भ करने के लिए प्राथमिकता पर भूमि उपलब्ध करायी जाए। श्री श्रीवास्तव ने बैठक के उपरान्त विकास भवन में स्थापित एकीकृत कोविड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर का निरीक्षण किया तथा निर्देश दिये कि इस सेन्टर के माध्यम से संक्रमित व्यक्तियों की लगातार निगरानी की जाए। उन्होंने एन0आर0एल0एम0 द्वारा विकास भवन में स्थापित कैन्टीन भी देखी। उन्होंने एन0आर0एल0एम0 समूह द्वारा संचालित कैन्टीन की प्रशंसा की। इसके पश्चात प्रमुख सचिव ने अतर्रा में नरैनी रोड स्थित कन्टेनमेन्ट जोन का निरीक्षण किया तथा निर्देश दिये कि संक्रमित व्यक्तियों की सर्तकता से निगरानी की जाए। श्री श्रीवास्तव ने इसके उपरान्त बदौसा के निकट ग्र्राम पंचायत तुर्रा में प्राकृतिक जल कुण्ड देखा तथा निर्देश दिये कि प्राकृतिक जल स्रोतों का संरक्षण किया जाए। जिलाधिकारी श्री अमित सिंह बन्सल ने बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में अब तक 16398 टेस्ट कराये जा चुके हैं। उन्होंनेे बताया कि जनपद में 35 हाॅट स्पाट एरिया हैं जिसमें सबसे अधिक बांदा तथा अतर्रा में हैं। श्री बन्सल ने बताया कि जनपद की 470 ग्र्राम पंचायतों व 642 राजस्व ग्रामों में डोर टू डोर सर्विलान्स का कार्य कराया गया है। उन्होंने बताया कि टेस्टिंग लैब का कार्य शुरू करा दिया गया है। जिलाधिकारी ने बताया कि 67 सरकारी व प्राइवेट चिकित्सालयों, सभी थानों, नगरपालिका व नगर पंचायत कार्यालयों तथा सभी प्रमुख कार्यालयों में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना करा दी गयी है। बैठक में अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 संतोष बहादुर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक महेन्द्र सिंह चैहान, नगर मजिस्टेªट सुरेन्द्र सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 संतोष कुमार, प्रधानाचार्य राजकीय मेडिकल काॅलेज डा0 मुकेश यादव, चिकित्सा अधीक्षक जिला अस्पताल डाॅ0 एस0एन0मिश्रा, उप निदेशक सूचना भूूपेन्द्र सिंह यादव, प्रभागीय वनाधिकारी संजय अग्रवाल, जिला पंचायत राज अधिकारी संजय यादव, जिला विद्यालय निरीक्षक विनोद सिंह तथा सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages