वृृद्धा की हत्या कर नगदी और जेवरों से भरा बक्सा ले भागे हत्यारे - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Saturday, July 18, 2020

वृृद्धा की हत्या कर नगदी और जेवरों से भरा बक्सा ले भागे हत्यारे

बदौसा थाना क्षेत्र के भुसासी गांव में हुई घटना, मचा हड़कंप 
अपर एसपी मौके पर पहुंचे, डाग एस्क्वायड की ली गई मदद 
घटना को अंजाम देने के पहले एक घर में घुसे थे हत्यारे 
शक: वृद्धा ने हत्यारों को पहचान लिया, इसलिए हुई हत्या 

बदौसा, के एस दुबे । थाना क्षेत्र के भुसासी गांव में शुक्रवार की रात को घर में चोरी के इरादे से घुसे चोरों ने नींद से जागी वृद्धा की पहले धारदार हथियार से वार कर हत्या कर दी और फिर घर में रखा जेवरों और 11 हजार रुपयों से भरा बक्सा लेकर भाग निकले। सुबह होने पर घरवालों ने देखा तो हड़कंप मच गया। खबर पाकर अपर पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंच गए और मामले की तहकीकात की। थाना पुलिस ने शव का पंचनामा भरने के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इधर, घटना को अंजाम देने के पूर्व चोर एक मकान में घुसे थे और वहां से भागने के बाद वृद्धा के मकान में जा घुसे। 
घटनास्थल पर जांच-पड़ताल करते पुलिस अधिकारी
भुसासी गांव निवासी गुलाब बाई (88) पत्नी इंद्रजीत के मकान में शुक्रवार की रात को अज्ञात चोर घर में घुस गए। चोरों की आहट पाकर वृद्धा जाग गई। शायद उसने चोरों को पहचान लिया। इस पर चोरों ने वृद्धा की धारदार और वजनदान हथियार से वार कर हत्या कर दी। इसके बाद वृद्धा के गले में पड़ी चाबी निकाली। इसके बाद 11 हजार रुपयों और सोने-चांदी के जेवरों से भरा बक्सा लेकर मौके से भाग निकले। शनिवार की सुबह होने पर मृतका के घर पहुंचे परिवारिक लोगों ने रक्तरंजित शव पड़ा देखा तो हड़कंप मच गया। घटना की खबर पर इंस्पेक्टर अरविंद सिंह गौर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे छानबीन शुरू कर गिया। घर से तकरीबन 500 मीटर दूरी पर पुलिस को बक्सा बरामद हुआ। घटना की सूचना पर पुलिस उपाधीक्षक अतर्रा सियाराम भी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतका के बेटे अजय सिंह पुत्र इन्द्रजीत सिंह की तहरीर पर पुलिस ने धारा 302, 380 और 457 के तहत मुकदमा दर्ज कराया है। गौरतलब हो कि मृतका गुलाब बाई के दो बेटे अजय सिंह व अमरजीत सिंह हैं। अमरजीत सिंह अहमदाबाद में सिक्योरिटी गार्ड की सर्विस करता है तथा अजय सिंह बदौसा में रहता और अपने भाई के बच्चों को पढ़ाते लिखाते हैं। भुसाीस गांव में मां अकेली रहती थी। एक दिन पहले उनकी मां ने किसान सम्मान निधि के 8000 तथा गेहूं बिक्री के 3000 रुपए लेकर घर में रखा था। लोगों को इसकी खबर हो गई और मौका देख कर चोरों ने घटना को अंजाम दिया। प्रभारी निरीक्षक थाना बदौसा अरविंद सिंह गौर ने कहा पुलिस अपराधियों को जल्दी ही ढूंढ निकालेगी। अपर पुलिस अधीक्षक महेन्द्र प्रताप चैहान घटनास्थल पर भुसासी गांव पहुंचे और पड़ताल की। डाग एस्क्वायड टीम बुला कर घटना की गहन पड़ताल कराई जा रही है। पुलिस हत्यारों की तलाश में तेजी से लगी हुई है। जल्द ही पुलिस हत्यारों को बेनकाब करेगी।
पंचनामा की कार्रवाई करती पुलिस

...तो 11 हजार रुपए बन गए जान के दुश्मन 

बदौसा। हत्या के ठीक एक दिन पहले वृद्धा गुलाबबाई ने किसान सम्मान निधि के तहत मिली आठ हजार रुपए की धनराशि और गेहूं बिक्री का तीन हजार रुपया घर में रखा था। इस बात की जानकारी लोगों को थी। चोरों को इस बात की भनक लगी तो वृद्धा के अकेले घर में होने का फायदा उठाते हुए चोर घर में घुस गए। ऐसा माना जा रहा है कि वृद्धा ने चोरों को पहचान लिया और इसी के चलते चोरों ने वृद्धा की हत्या कर दी। ग्रामीणों का तो यहां तक दावा है कि घर में रखे 11 हजार रुपए वृद्धा की जान के दुश्मन बन गए। 

बक्सा बरामद, नगदी और जेवर गायब 

बदौसा। मृतका के घर से बक्सा ले जाने के बाद चोर महज 500 मीटर ही चले और बक्से का ताला चाबी से खोलकर उसमें रखे 11 हजार रुपए और सोने-चांदी के जेवरात निकाल लिए। इसके बाद बक्सा और उसमें रखा अन्य कपड़े व सामान छोड़कर मौके से भाग निकले। पुलिस खोजबीन की तो बक्सा घर से कुछ दूरी पर पड़ा पाया गया। पुलिस ने हत्यारोपियों को पकड़ने के लिए सुरागरसी शुरू कर दी है। थाना पुलिस का दावा है कि जल्द ही हत्यारोपियों को दबोचकर सलाखों के पीछे भेजा जाएगा। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages