गलत सलाह से बचते हुए स्वदेश भावना को ऊंचा रखें आरक्षी: एडीजी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, July 30, 2020

गलत सलाह से बचते हुए स्वदेश भावना को ऊंचा रखें आरक्षी: एडीजी

रिक्रूट आरक्षियों को एसपी ने दिलाई शपथ, बांटे प्रशस्ति पत्र
दीक्षांत समारोह का हुआ भव्य आयोजन

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। पुलिस लाईन्स में गुरुवार को पीएसी रिक्रूट आरक्षियों के दीक्षांत समारोह का भव्य आयोजन हुआ। पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने परेड की सलामी ली। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अपर पुलिस महानिदेशक प्रयागराज जोन प्रेमप्रकाश ने सलामी लेकर परेड का निरीक्षण किया। इसके बाद परेड के प्रथम कमाण्डर रिक्रूट आरक्षी दर्शन यादव एवं द्वितीय कमाण्डर रिक्रूट आरक्षी शुभम सिंह के नेतृत्व में परेड मार्चपास्ट की कार्यवाही करते हुये मंच के सामने से गुजरते हुए मुख्य अतिथि का अभिवादन किया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि प्रशिक्षण निदेशालय के आदेशानुसार पुलिस लाइन में 42वीं वाहिनी पीएसी नैनी के अन्तिम रूप में कुल 200 रिक्रूट आरक्षियों 24 दिसम्बर 2019 से छह माह का प्रशिक्षण प्राप्त करने आए। जिनमें से एक आरक्षी अस्वस्थ्य होने पर उसे मूल वाहिनी वापस कर दिया गया। एक आरक्षी का चयन यूपीपीसीएल में चयन होने पर त्याग पत्र देकर कार्य मुक्त किया जा चुका है। शेष 198 रिक्रूट आरक्षियों ने प्रशिक्षण प्राप्त कर अन्तिम परीक्षा में सम्मिलित होकर सफल हुए हैं। 
रिक्रूट आरक्षी को प्रशस्ति पत्र, ट्राफी देते एडीजी, सांसद, डीएम, एसपी।
दीक्षांत सामारोह के मुख्य अतिथि अपर पुलिस महानिदेशक प्रेम प्रकाश, सांसद आरके सिंह, डीएम शेषमणि पाण्डेय, एसपी अंकित मित्तल ने इन्डोर, आउटडोर की परीक्षाओं में अलग-अलग विषयों में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले रिक्रूट आरक्षियों को प्रशस्ति पत्र एवं ट्राफी प्रदान कर पुरस्कृत किया। रिक्रूट आरक्षी अंकित मिश्रा को सर्वाधिक अंक प्राप्त करने पर बेस्ट कैडेट चुना गया। इस दौरान प्रतिसार निरीक्षक सुमेर सिंह, आरटीसी प्रभारी हबीब उल्ला, आरटीसी मेजर आफाक खां एवं सभी आरटीसी स्टाफ को विशेष सहयोग के लिए प्रशस्ति पत्र प्रदान किए गए। मुख्य अतिथि अपर पुलिस महानिदेशक ने कहा कि मनोहरी एवं सुंदर परेड ग्राउंड प्रस्तुत किया है। इतना सुंदर परेड ग्राउंड दुर्लभ देखने को मिलता है। कई वर्षों तक वह प्रशिक्षण से जुड़े रहे। विभिन्न महाविद्यालयों में प्रसिंपल की भूमिका अदा की। आज तक इतनी अच्छी परेड कभी नही देखी है। जिसके लिए सभी बधाई के पात्र है। आशा है कि जीवनपर्यन्त इसको बनाए रखेगें। रिक्रूट आरक्षियों से कहा कि फील्ड में जाएगें तो बहुत से इस प्रकार के लोग मिलेगें जो गलत राह देगें एवं कहेगें कि जो प्रशिक्षण में सिखाया है उसको वही भूल जाओ। अब जो हम कहते है उसको सीखों तो माने वे लोग गलत सलाह दे रहे है। पुलिस एक ऐसा संगठन है जिसकी ओर प्रत्येक नागरिक अपने अधिकारों की रक्षा के लिए देखता है। नागरिकों के अधिकारों का सम्मान करते हुए उनके समस्त अधिकारों को अक्षुण्य रखेगें। व्यवहार उच्च कोटि का रखना है। मुश्किल के कई क्षण आएगें, अपराधियों से कई चुनौतियां मिलेगी, समाज की कई सारी कुरीतियों से लड़ना होगा, लेकिन जो प्रशिक्षण दिया गया है उन सब कलाओं का पूर्ण प्रयोग करेंगे। कभी भूले नही और निरन्तर अभ्यास करते रहे। वर्दी देश के लिए पहनी है। स्वदेश की भावना को हमेशा ऊंचा रखना है। इसके उपरांत पुलिस अधीक्षक ने सभी उत्तीर्ण आरक्षियों को शपथ दिलायी। अपर पुलिस महानिदेशक, सांसद, डीएम को मोमेन्टो प्रदान कर सम्मानित किया। दीक्षांत सामारोह में सेवानिवृत्त डीजी गोपाल गुप्ता, सीडीओ डॉ महेन्द्र सिंह, एएसपी/नोडल अधिकारी प्रशिक्षण प्रकाश स्वरूप पाण्डेय, सदर एसडीएम अश्विनी कुमार पाण्डेय, सीओ मऊ विज्येन्द्र द्विवेदी, समाजसेवी पंकज अग्रवाल, समस्त थाना प्रभारी निरीक्षक, शाखा प्रभारी, चैकी प्रभारी आदि गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages