क्षेत्र में आठ घण्टे विद्युत सप्लाई मिलने से किसान परेशान - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, July 11, 2020

क्षेत्र में आठ घण्टे विद्युत सप्लाई मिलने से किसान परेशान

लोकल फाल्टों के नाम भी घण्टों बंद रहती सप्लाई 
पुराने जर्जर तारों को बदलने की जहमत नहीं करता विभाग 
   
खागा-फतेहपुर, शमशाद खान । प्रदेश की सत्ता में योगी सरकार के काबिज होते ही लोगों में आस जागी थी कि अब क्षेत्र में 18 से 20 घण्टे विद्युत आपूर्ति होगी। योगी सरकार ने शहरों को 22 व गांवों को 18 घण्टे विद्युत सप्लाई का निर्देश भी दिया था लेकिन इसके उलट देहात क्षेत्र में सिर्फ आठ घण्टे ही विद्युत सप्लाई की जा रही है। जिससे किसान बेहद परेशान है। उधर लोकल फाल्टों के नाम पर भी घण्टांे सप्लाई बंद रहती है। विभाग द्वारा जर्जर तारों को बदलने की जहमत भी नहीं की जा रही है। क्षेत्रीय किसानों ने उच्चाधिकारियों से इस ओर ध्यान आकृष्ट करते हुए क्षेत्र में 18 घण्टे विद्युत सप्लाई करने की मांग की है। 
जर्जर विद्युत तारों का दृश्य।
तहसील क्षेत्र के विद्युत वितरण खण्ड तृतीय के एक्सईएन, एसडीओ व जेई की मनमानी सिर चढ़कर बोल रही है। पूरे क्षेत्र में विद्युत फाल्ट की बाढ़ आ गयी है। जिसके चलते सिर्फ सात से आठ घण्टे ही विद्युत सप्लाई की जा रही है। वर्तमान समय में धान की फसल बुआई का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है। किसानों को सबसे अधिक बिजली एवं पानी की दरकार है लेकिन समय से आपूर्ति न मिलने के कारण किसानों को खेत में रात-रात भर जाग कर विद्युत सप्लाई आने का इंतजार करना पड़ता है। इससे उनके स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ रहा है। इस बाबत जब किसानों से बात की गयी तो उनका कहना रहा कि विद्युत कनेक्शन तो रेवड़ी की तरह बांट दिये जाते हैं लेकिन विभाग द्वारा जारी किये गये कनेक्शनों के आधार पर लोड बढ़ाने का काम नहीं किया जाता। इसका खामियाजा उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ता है। विभाग द्वारा सिर्फ अवैध वसूली की जाती है। लोकल फाल्टों को बनाने के नाम पर भी लाइनमैन व जेई किसानों से पैसा वसूलने का काम करते हैं। किसानों का कहना रहा कि ट्रान्सफार्मरों का लोड भी नहीं बढ़ाया जा रहा है जिसके चलते आये दिन ट्रान्सफार्मर फुंकते हैं और एक-एक सप्ताह तक विद्युत सप्लाई नहीं की जाती। जबकि योगी सरकार ने निर्देश जारी किये थे कि फुंके ट्रान्सफार्मरों को तत्काल विभाग बदलने का काम करें। लेकिन शासन के निर्देशों की विभाग द्वारा खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। जिससे किसानों में खासा रोष व्याप्त है। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages