कानपुर:- बिल्डिंग की ऊंचाई 15 मीटर से ज्यादा हुई तो शमन नहीं - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, July 18, 2020

कानपुर:- बिल्डिंग की ऊंचाई 15 मीटर से ज्यादा हुई तो शमन नहीं

शासन द्वारा लागू की गई नई शमन पॉलिसी में एफएआर का दायरा भी तय किया गया है। विकसित की गई किसी कॉलोनी में आपकी बिल्डिंग की ऊंचाई सिर्फ 15 मीटर तक मान्य होगी। इससे ज्यादा ऊंचे निर्माण पर बुलडोजर चलेगा, शमन नहीं होगा। शुल्क देकर भी आपकी इमारत ध्वस्तीकरण से बच नहीं पाएगी।
कानपुर कार्यालय संवाददाता:- अगर आपने तीन मंजिल का नक्शा पास कराया और चार या पांच मंजिल बना ली तो यह न समझिए कि शमन शुल्क लेकर केडीए आपके निर्माण को शमनीय मान लेगा। स्वीकृत नक्शे से एक मंजिल अधिक शमनीय मानी जाएगी मगर किसी भी सूरत में इमारत की ऊंचाई 15 मीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए। धारा 27 के तहत केडीए आपको पहले नोटिस जारी करेगा और बाद में धारा 28 के तहत ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया शुरू करेगा।

इसमें नहीं लगेगा क्रय योग्य एफएआर शुल्क
निर्मित क्षेत्र यानि पुराने मोहल्लों में ग्रुप हाउसिंग, कार्यालय, संस्थागत और बहुमंजिला भवन निर्माण के लिए पहले से अनुमन्य एफएआर (फ्लोर एरिया रेशियो) का अधिकतम 20 प्रतिशत ही क्रय योग्य एफएआर शमनीय माना जाएगा। हालांकि प्रथम 10 प्रतिशत अतिरिक्त एफएआर के लिए क्रय योग्य एफएआर पर कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा।

निर्मित क्षेत्र के बाहर के लिए यह नियम
नर्मित क्षेत्र के बाहर ग्रुप हाउसिंग, कार्यालय, संस्थागत एवं अन्य बहुमंजिला निर्माण के लिए 18 मीटर रोड से अधिक और 24 मीटर से कम चौड़ी सड़क अनुमन्य एफएआर का अधिकतम 33 प्रतिशत एफएआर क्रय योग्य आधार पर शमनीय माना जाएगा। वहीं, 24 मीटर से अधिक चौड़ी रोड पर 50 प्रतिशत अतिरिक्त एफएआर क्रय योग्य एफएआर के आधार पर शमनीय माना जाएगा। इसमें भी प्रथम 10 प्रतिशत अतिरिक्त एफएआर के लिए क्रय योग्य एफआर का कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा।

कम आय वर्ग को ज्यादा राहत
नई शमन पॉलिसी में ईडब्ल्यूएस और कार्नर के मकानों को ज्यादा राहत दी गई है। निम्न एवं लघु मध्यम आय वर्ग के लिए 100 मीटर से कम क्षेत्रफल के भूखंडों पर किए गए निर्माण में शमन शुल्क की दरों में नई दरों के हिसाब से 25 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट होगी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages