जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुआ 11 समितियों की बैठक का आयोजन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Friday, July 31, 2020

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुआ 11 समितियों की बैठक का आयोजन

मरीजों की जान बचाने हेतु हर सम्भव प्रयास किये जाने के निर्देश:

अधिक से अधिक आरोग्य सेतु ऐप/ आयुष कवच ऐप डाउनलोड कराये जाने के निर्देश:

त्योहारों के अवसर पर साफ-सफाई, पेयजल, विद्युत आदि की व्यवस्था सुद्ढ़ हो:

उन्नाव, अजय प्रताप - नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) नामक वैश्विक महामारी के चलते इससे निजात पाने के उद्देश्य से बनायी गई विभिन्न 11 समितियों की बैठक का आयोजन जिलाधिकारी  रवीन्द्र कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट कार्यालय कक्ष में किया गया।  बैठक में कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्था, चिकित्सकों की उपलब्धता, स्वच्छता एवं भोजन की व्यवस्था, कोविड-19 की आर0टी0पी0सी0आर0, ट्रू-नेट मशीन एन्टीजेन किट की उपलब्धता तथा कराए गए टेस्ट एवं उनके परिणाम की स्थिति, जनपद के नगरीय/ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 एवं संचारी रोग पर प्रभावी नियंत्रण हेतु डोर टू डोर सर्विलांस टीम की उपलब्धता एवं उनके द्वारा किए गए कार्यों  आदि बिन्दुओं पर समीक्षा की गई।
जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक श्री रोहन पी कनय से वार्ता के दौरान मास्क न लगाने वालों पर चालान करने को कहा। उन्होंने कहा कि जो भी व्यक्ति बिना मास्क लगाये हुये पाया जाये उस पर जुर्माना अवश्य किया जाये। जिससे की कोविड-19 वैश्विक महामारी से बचा जा सके। उन्होंने कहा कि जो भी होटल, रिसाॅर्ट आदि कोविड से सम्बन्धित मरीजों के लिये तय किये गये हैं उनकी नियमित रूप से साफ-सफाई, मरीजों के खाने पीने की व्यवस्था आदि ससमय सुनिश्चित की जाये। प्रत्येक शनिवार एवं रविवार को विशेष स्वच्छता, सेनिटाइजेशन एवं सर्विलांस का विशेष अभियान चलाया जाये। कोविड-19 से संबंधित कंटेनमेंट जोन, काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग का कार्य सुचारू रूप से सम्पन्न कराये  जाने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया।
 जिलाधिकारी ने अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, डा0 आर0 के0 गौतम से मरीजों के इलाज हेतु पर्याप्त सामग्री के बारे में जानकारी लेते हुये कहा कि मरीजों के इलाज हेतु यदि किसी भी प्रकार की सामग्री जनपद में उपलब्ध न हो तो जिला प्रशासन को अवगत अवश्य करायें, उपलब्ध वेन्टीलेटर को एक्टिव रखा जाये जिससे कि समय रहते मरीजों को उचित इलाज मिल सके तथा मृत्यु दर में कमी आ सके। उन्होंने कहा कि जरूरत के अनुसार कोविड चिकित्सालयों, चिकित्सकों, मरीजों के लिये पर्याप्त भोजन, बिस्तर आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये तथा जनपद के नगरीय/ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 एवं संचारी रोग पर प्रभावी नियंत्रण हेतु डोर टू डोर सर्विलांस टीम द्वारा कार्य प्रति दिन होने चाहियें। उन्होंने कहा कि एन्टीजेन जांच के द्वारा जो भी व्यक्ति पाॅजिटिव पाये जायं उन्हें तत्काल कोविड अस्पतालों में भर्ती कराया जाये। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से संक्रमित मरीजों को तत्काल अस्पताल पहंचाया जाये, मरीजों के प्रति किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। 
जिलाधिकारी ने जिला विद्यालय निरीक्षक व बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि समस्त जिला पंचायत/क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान सहित आम नागरिकों में आरोग्य सेतु ऐप/ आयुष कवच ऐप ज्यादा से ज्यादा डाउनलोड करायं ताकि कोरोना वायरस से बचाव के सम्बन्ध में लोेेग ज्यादा से ज्यादा सचेत/जागरूक रह सकें। 
जिलाधिकारी ने कहा कि बकरीद व रक्षाबन्धन के पर्व के अवसर पर कोविड-19 महामारी से बचाव करते हुये कोरोना प्रोटोकाल का पालन अवश्य करें तभी त्योहार का आनन्द उठा पायेंगे। उन्होंने नगर पालिका/नगर पंचायत के अधिशाषी अधिकारी को निर्देश दिये कि बकरीद व रक्षाबन्धन पर्वों पर जनपद में साफ-सफाई की व्यवस्था सुदृ्ढ होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि प्लानिग बनाकर आकस्मिक कूड़ा आदि उठाने की तैयारी करली उन्होंने विद्युत अभियंता को निर्देशित करते हुुये कहा कि जनपद में बिजली की व्यवस्था निरन्तर बनाये रखें। उन्होंने यह भी कहा  कि इस मौके पर पेय जल की व्यवस्था बनाये रखें। बैठक में पुलिस अधीक्षक रोहन पी कनय, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) श्री राकेश कुमार सिंह, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 आर0के0 गौतम, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी, श्री राजदीप वर्मा, जिला विघालय निरीक्षक, बसिक शिक्षा अधिकारी, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी सहित समस्त सम्बन्धित अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages