Latest News

सर्वर धड़ाम रहने से खाद्यान्न वितरण की गति रही धीमी

दो गज की दूरी बेहद जरूरी पीएम का नारा बना मजाक 
  
फतेहपुर, शमशाद खान । नोवल कोरोना वायरस जैसी महामारी की जंग को जीतने के साथ ही देशवासियों के जान की हिफाजत के मद्देनजर देश में प्रभावी लाकडाउन के दौरान गरीबों का पेट भरने के लिए शासन द्वारा मई माह का भी खाद्यान्न वितरण पहली तारीख से जिले में कराया जा रहा है। पहले दिन से ही राशन की दुकानों की ई-पास मशीनों का सर्वर धड़ाम हो जाने से वितरण की गति बेहद धीमी रही। जबकि खाद्यान्न लेने के लिए सम्बन्धित कोटेदारों की दुकानों पर सुबह से ही महिला व पुरूष कार्ड धारकों की भीड़ उमड़ना शुरू हो गयी थी। वितरण के दौरान प्रधानमंत्री का आहवान दो गज की दूरी बेहद जरूरी की धज्जियां उड़ गयी। 
बताते चलें कि जिले की कुल 1109 सरकारी राशन की दुकानों से पांच लाख आठ सौ अस्सी पात्र गृहस्थी एवं अन्त्योदय कार्ड धारकांे को बारह मई तक गेहूं व चावल का वितरण किया जाना है। पहली तारीख से वितरण का काम शुरू हो गया था। पहले दिन भी अधिकांश दुकानों पर ई-पास मशीनों का सर्वर धड़ाम रहने से वितरण की गति बेहद धीमी रही। जबकि खाद्यान्न लेने के लिए लोगों की भारी भीड़ अपने-अपने क्षेत्र की दुकानों पर सुबह से ही उमड़ पड़ी थी। वहीं दूसरे दिन शनिवार को भी अधिकांश ई-पास मशीनों का सर्वर काम न करने से
कोटेदार के यहां ई-पास मशीन में अंगूठा लगाते कार्ड धारक।
ज्यादातर लोगों को राशन लेने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सर्वर का आलम यह रहा कि थोड़ी-थोड़ी देर में आता व जाता रहा। जिसके चलते कार्ड धारकों का अंगूठा निशान लगवाने में काफी देरी के साथ लोगों को इंतजार भी करना पड़ा। ऐसे में भीड़ लगना स्वाभाविक है। पिछले माह भी राशन दुकानों में वितरण के दौरान सामाजिक व शारीरिक दूरी का जमकर उल्लंघन हुआ था। यही हाल इस माह भी दुकानों पर देखने को मिल रहा है। सर्वर की खराबी के चलते तमाम महिलाओं व पुरूषों को बिना राशन लिए ही लौटने के लिए मजबूर होना पड़ा। सर्वर की नाकामी के चलते अब यह नही लगता कि जिले भर में बारह मई तक समस्त कार्ड धारकांे को गेहूं व चावल मिल सकेगा। उधर जिला पूर्ति अधिकारी अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि ई-पास मशीनों में वोडाफोन व एयरटेल के सिम पड़े हुए हैं। जो सर्वर के काम न करने के चलते तेजी से काम नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में खाद्य़ान्न वितरण की गति धीमी होना स्वाभाविक है। उधर बिना राशन लिये लौटे तमाम कार्ड धारकों ने बताया कि लाकडाउन की पाबंदियों ने उनका रोजी-रोजगार छीन लिया है। ऐसे में सरकार की राशन देने की मदद को भी वह पेट भरने के लिए काफी मान रहे हैं। 
नोट- ऊपर वाली खबर का बाक्स 
15 मई से मुफ्त मिलेगा चावल 
फतेहपुर। जिला पूर्ति अधिकारी अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि गेहूं व चावल का वितरण 12 मई तक ही किया जायेगा। इसके बाद इसके लाभार्थी कार्ड धारकों को राशन नहीं मिलेगा। उन्होने यह भी बताया कि 15 मई से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत प्रत्येक कार्ड पर प्रति यूनिट पांच किलो मुफ्त चावल का वितरण कराया जायेगा। उन्होने बताया कि दाल का वितरण किया जाना था लेकिन दाल की जगह अब चना का वितरण किया जायेगा। मण्डलायुक्त प्रयागराज द्वारा चना का आवंटन कर दिया गया है।

No comments