Latest News

बंधौली मौरम घाट पर पाॅकलैंड चालक की संदिग्ध अवस्था में मौत

पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा
मृतक के परिजन ललितपुर से मेडिकल कालेज

उरई (जालौन), अजय मिश्रा । सोमवार की देर रात बंधौली मौरम घाट पर ललितपुर निवासी एक पाॅकलैंड चालक की संदिग्ध अवस्था में मौत होने से मौरम घाट पर सनसनी फैल गयी। हैरानी की बात तो यह है कि उक्त घटना को पूरी रात थाना पुलिस से छिपाये रखा गया और प्रातः घटना की जानकारी पुलिस को तब पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा। समाचार लिखे जाने तक पुलिस अधिकारी भी इस मामले पर कुछ भी कहने से बचते नजर आये।
मृतक के परिजनों से बातचीत करते बीएल यादव।
मिली जानकारी के अनुसार उरई तहसील क्षेत्र के बंधौली मौरम खंड सख्या 1 का पट्टा मे. सुरेशचंद्र गुप्ता 60 गणेश बाजारी झांसी के नाम है जिसका रकवा 20.224 हैक्टेयर बताया जाता है। लेकिन उक्त मौरम घाट का संचालन पेटी ठेकेदार उरई निवासी सोनू, मोनू यादव कर रहे हैं। बताया जाता है कि बीती रात मौरम घाट पर पाॅकलैंड मशीन चालक विशाल पुत्र हरनाम निवासी ललितपुर की संदिग्ध अवस्था में मौत हो जाती है। जब उक्त घटना की सूचना पेटी ठेकेदार सोनू, मोनू यादव को मिली तो उन्होंने पूरी रात घटना के संबंध में डकोर कोतवाली पुलिस को किसी भी तरह की कोई सूचना नहीं दी प्रातः जब पुलिस को सूचना दी गयी तो वह मौके पर पहुंची और मृतक के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया और मृतक के परिजन जो ललितपुर में निवासी है उन्हें जानकारी दी तो वह भी दोपहर में पोस्टमार्टम हाउस पहुंच गये थे। हैरानी की बात तो यह है कि पाॅकलैंड चालक की मौत होने के मामले की जो सच्चाई छिपाई जा रही है उसके पीछे क्या राज हो सकता है। यह बात पुलिस के लिये जांच का विषय हो सकता है। लेकिन रात के दौरान बंधौली मौरम घाट पर मौजूद लोग भी इस मामले में अपना मुंह नहीं खोलना चाहते है। जिससे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि उक्त लोगों को भी सच्चाई बताने से पेटी ठेकेदार द्वारा दबाब बनाया गया। जबकि ग्रामीणों की मानें तो वह उसे हत्या करार दे रहे हैं। अब कोतवाली पुलिस इस मामले की एफआईआर किन धाराओं में दर्ज करेगी तभी सारा मामला स्पष्ट हो पायेगा। ताज्जुब की बात तो यह है कि इस मामले में जब पुलिस अधिकारियों से जानकारी चाही तो वह भी घटना के संबंध में कुछ भी कहने से बचते नजर आये।

1 comment: