Latest News

ग्रीन जोन में कोरोना का काला साया

दूसरे प्रांतों से आए प्रवासियों से बढ रहे संक्रमित

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। दूसरे प्रांतों के मजदूरों के प्रवास ने लाक डाउन के तीसरे चरण में ग्रीन जोन जनपद को संक्रमित बना दिया है। ऐसे में शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में कोराना संकट का काला साया मंडराने लगा है। 
गौरतलब हो कि देश में अचानक कोरोना वायरस संकट से हुए लाक डाउन के चलते दिनचर्या थम गई। जहां जो था वहीं ठहर गया। बीते 22 मार्च को पीएम नरेन्द्र मोदी ने महामारी से बचाव को लाक डाउन कर दिया। आम जन से घरों में रहने की अपील की गई। जिससे कुछ प्रांतो के जनपद ग्रीन जोन रहे। लाक डाउन का असर कुछ हद तक सफल हुआ। जिले में लगातार दो लाक डाउन में कोई कोराना संक्रमण नहीं था। ऐसे में लोग खासा राहत महसूस कर रहे थे। जैसे ही दूसरे प्रांतों का जत्था गृह जनपद आने लगा तो संक्रमण संकट के बादल छा गए। राजापुर के बरद्वारा में दो व भरतकूप के पतौड़ा गांव में एक संक्रमित प्रवासी के मिलने से कोरोना काउंटडाउन शुरू हो गया। देखते-देखते जनपद में 15 कोरोना मरीज बढ़ गए। 
हाट स्पाट में सेनेटाइज करते कर्मचारी।

कोरोना संक्रमित प्रवासी की मौत, एरिया सील
चित्रकूट। मुम्बई में फिल्म स्टार के यहां सुरक्षा गार्ड की नौकरी करने वाले मानिकपुर थाना क्षेत्र के सरैया गांव निवासी प्रवासी युवक की मौत होने पर प्रशासन ने आनन-फानन सैम्पल जांच को भेजा। बीती रात कोरोना संक्रमित रिपोर्ट आने पर जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय, पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल, सेीएमओ डा विनोद कुमार ने गांव पहुंचकर जायजा लिया। प्रशासन ने पांच सौ घरों की सीमाएं, गलियां सील कर बैरीकेटिंग लगाया है। हर जगह सेनेटाइजेशन हुआ। सीएमओ ने बताया कि मृतक के तीन परिजनों के सैम्पल लेकर क्वारंटीन सेंटर भेजा है। अन्य संपर्क वालों को होम क्वारंटीन रहने के निर्देश दिए हैं। शेष अन्य के सैम्पल लिए जायेंगें। मृतक लगभग एक माह से बीमार था। तीन भाई, दो बहन हैं। 

गांव आने के दिन ही हुई मृत्यु
चित्रकूट। कोरोना संक्रमित मृतक बीते रविवार को शंकरगढ़ के रिश्तेदार जीजा के साथ किराए की गाडी लेकर आया था। परिजनों ने रात्रि में ही पूरे एहतियात के साथ अंतिम संस्कार कर दिया। जनपद में जिस दिन आया उसी दिन ही मृत्यु हो गई। घटना से परिजनों में कोहराम मचा है। कोरोना संक्रमण से मौत के चलते पूरे परिवार व गांव के लोग सहम गए। 

1 comment: