Latest News

तीन नए कोरोना पाजिटिव मिलने से मचा हड़कंप

नरैनी का चौथे पाजिटिव मरीज मर्दननाका के रिश्तेदार को बनाया शिकार 
इंदौर से लौटी है महिला, हैदाराबाद से घर लौथा था रहूसत गांव का युवक 
अब तक कोरोना पाजिटिव मिलने वालों की संख्या बढ़कर हुई सात 
सात में से तीन मरीज ही अब तक हो सके हैं स्वस्थ्य, चार संक्रमण से जूझ रहे 

बांदा, के0 एस0 दुबे । शुक्रवार को 27 लोगों की आई जांच रिपोर्ट में कोरोना बम फूट गया। एक साथ तीन पाजिटिव मिले तो स्वास्थ्य विभाग के माथे पर बल दिखने लगा। मेडिकल कालेज में ही मौजूद सभी पाजिटिव मरीजों को तत्काल आईसुलेट किया गया और प्रशासन को जानकारी दी गई। हरकत में आए प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारी संक्रमण को रोकने के प्रयासों में जुट गए। स्वास्थ्य विभाग ने कई टीमों को भेजकर तीनो पाजिटिव मरीजों के इलाकों में सेनेटाइजेशन और स्क्रीनिंग का सिलसिला शुरू करा दिया है। इसके साथ ही तीनो इलाके पूरी तरह से सील कर दिए गए हैं। 
रहूसत गांव का निरीक्षण करते जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल और एसपी सिद्धार्थ शंकर मीणा
कोरोना पाजिटिव मरीजों की फेहरिस्त बढ़ती ही जा रही है। राजकीय मेडिकल कालेज में संदिग्ध 27 मरीजों की रिपोर्ट शुक्रवार को आई तो ऐसे लगा जैसे कोरोना बम फूट गया। मेडिकल कालेज प्राचार्य डा. मुकेश यादव ने बताया कि गिरवां थाने के रहूसत गांव निवासी राजेश कुमार पाजिटिव पाया गया। वह हैदराबाद से वाहनों के जरिए और पैदल मेडिकल कालेज आया था। इसी तरह शहर के मर्दननाका निवासी इरफान पुत्र हबीब उल्ला की रिपोर्ट भी पाजिटिव आई है। यह नरेनी क्षेत्र के रामनगर निवासी चैथे कोरोना पाजिटिव शरीफुद्दीन का साला बताया गया है। इसी तरह नगर कोतवाली क्षेत्र के मवई गांव निवासी बबली पत्नी राजा भी पाजिटिव पाई गई है। बताया गया है कि बबली अपने पति और बच्चों के साथ इंदौर में रहकर मजदूरी करती थी। प्राचार्य ने बताया कि इन सभी मरीजों को मेडिकल कालेज में ही क्वारंटीन किया गया था। रिपोर्ट पाजिटिव आने के बाद इन सभी को आईसुलेट कर उपचार शुरू कर दिया गया है। प्राचार्य ने कहा कि अब तक जिले में कुल सात कोरोना पाजिटिव मरीज हो गए। इनमें से तीन पूरी तरह से स्वस्थ्य हो चुके हैं। जबकि चार का उपचार किया जा रहा है।

54 लोगों की हुई स्क्रीनिंग 
बांदा। जिला अस्पताल में शुक्रवार को 54 लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। मुंबई से 5, हैदराबाद से 4, हरियाणा से 2, कर्नाटक से 3, दिल्ली से 1, कानपुर से 1, सूरत से एक और मध्य प्रदेश के रीवां जिले से पांच लोग सीधे जिला अस्पताल पहुंचे। वहां पर पूरी सतर्कता के साथ इन लोगों की स्क्रीनिंग की गई और पूरी तरह से स्वस्थ्य होने के कारण सभी को होम क्वारंटीन रहने की हिदायत देते हुए घर जाने दिया गया। 
रहूसत गांव में मौजूद आयुक्त गौरव दयाल और डीआईजी दीपक कुमार
 
आयुक्त, डीआईजी, डीएम और एसपी ने किया रहूसत गांव का निरीक्षण 
बांदा। कोरोना पाजिटिव मरीज मिलने के बाद शुक्रवार को पुलिस उप महानिरीक्षक दीपक कुमार, जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल और पुलिस कप्तान सिद्धार्थ शंकर मीणा ने गिरवां थाने के रहूसत गांव का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने गांव को चारों ओर से सील किए जाने के साथ ही तकरीबन तीन किलोमीटर एरिया को बफर जोन घोषित किए जाने की बात कही। इसके साथ ही पुलिस कप्तान ने भी मातहतों को निर्देश दिए कि गांव में आवागमन पर विशेष निगाह रखी जाए। इसके साथ ही डीआईजी ने भी आवश्यक निर्देश दिए। चित्रकूटधाम मंडलायुक्त गौरव दयाल ने कहा कि कोरोना का संक्रमण रोकने के काम में कोई लापरवाही नहीं बरती जानी चाहिए।


No comments