Latest News

अवैध संबंधों के चलते प्रदीप को गंवानी पड़ी अपनी जान

पुलिस ने 24 घण्टे के भीतर तीन हत्यारों को किया गिरफ्तार

फतेहपुर, शमशाद खान । मलवां थाना क्षेत्र के चक्की गांव में खेतों की रखवाली कर रहे एक युवक को अवैध संबंधों के चलते अपनी जान गंवानी पड़ गयी। पुलिस ने चौबीस घण्टे के भीतर ही घटना का सफल अनावरण करते हुए तीन हत्यारों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। पुलिस ने हत्यारों की निशादेही पर आला कतल व मृतक का मोबाइल भी बरामद कर लिया है। पुलिस ने हत्यारों को न्यायालय भेज दिया।
मलवां थाना प्रभारी शेर सिंह राजपूत ने बताया कि रविवार की दोपहर थाना क्षेत्र के ग्राम चक्की निवासी धनीराम पुत्र बैजनाथ पासवान के 22 वर्षीय पुत्र प्रदीप कुमार उर्फ बंटा की हत्या कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा धारदार हथियार से गर्दन पर वार करके कर दी गयी थी। जिसके सम्बन्ध में धनीराम ने अज्ञात व्यक्तियों के विरूद्ध थाने पर अभियोग पंजीकृत कराया गया था। उन्होने बताया कि घटनास्थल का एसपी व एएसपी द्वारा निरीक्षण कर घटना के खुलासे के निर्देश दिये गये थे। मुकदमे के वादी धनीराम ने पूछताछ में बताया कि गांव का रजोल पुत्र शिवपाल उसका पारिवारिक भाई भी लगता है। गांव में कई लोगों से कहा था कि प्रदीप कुमार उर्फ बंटा ने उनकी पत्नी के
पुलिस हिरासत में  पकड़े गये हत्यारे।
साथ गलत हरकत की है। किसी दिन वह इनको देख लेगा। घटना वाले दिन कुछ ग्रामीणों द्वारा रजोल को अपने साथी विक्रम पुत्र सूरज भान, संजय पुत्र चन्द्रशेखर के साथ घूमते हुए देखा गया था। रजोल कुल्हाड़ी भी लिये था। वादी एवं गवाहान से की गयी पूछताछ व उनके द्वारा दी गयी जानकारी के आधर पर यह स्पष्ट हो गया कि मृतक प्रदीप की हत्या रजोल पुत्र शिवपाल ने अपनी पत्नी से नाजायज सम्बन्ध होने की शंका में की है। पुलिस टीम द्वारा मृतक प्रदीप कुमार की हत्या में संलिप्त रहे अभियुक्त रजोल पुत्र शिवपाल पासवान, विक्रम पुत्र सूरजभान, संजय पुत्र चन्द्रशेखर पासवान निवासी ग्राम चक्की थाना मलवां की तलाश की गयी। मुखबिर की सूचना पर सौरा फैक्ट्री एरिया क्षेत्र से तीनों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तारी के समय अभियुक्त रजोल ने बताया कि गांव में लोग कहते थे कि प्रदीप कुमार के उसकी पत्नी के साथ नाजायज सम्बन्ध हैं। इससे उसे बहुत शर्मिंदगी होती थी। उसके साथी विक्रम ने पता किया कि प्रदीप कुमार अपने खेत के पास झोपड़ी में सो रहा है। तब वह व संजय साथ-साथ पहुंचे। संजय व विक्रम उसके साथ थे कुल्हाड़ी से तीन वार करके प्रदीप कुमार को मार डाला। प्रदीप की हत्या करने के बाद जाते समय कुल्हाड़ी व मोबाइल झाड़ी में रख दिया। अभियुक्त रजोल व उसके साथी विक्रम व संजय की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त एक कुल्हाड़ी व मृतक के छिपाकर रखे गये मोबाइल फोन को बरामद किया गया है। घटना का अनावरण करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक के अलावा उपनिरीक्षक रामू सिंह यादव, सौंरा चैकी प्रभारी सत्य प्रकाश सिंह, उपनिरीक्षक राजेन्द्र प्रसाद यादव, स्वाट प्रभारी विनोद कुमार मिश्रा, हेड कांस्टेबिल राजेश सिंह, कांस्टेबिल पंकज सिंह, इन्द्रजीत सिंह, अतुल त्रिपाठी, विपिन मिश्रा, अजय पेल, पंकज सिंह, प्रमोद कुमार, वीरेश यादव आदि रहे। 

1 comment: