Latest News

सादगी से कृषि विश्वविद्यालय में मनाया गया मजदूर दिवस

बांदा, के0 एस0 दुबे । कोरोना संक्रमण के चलते बांदा कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में लाकडाउन के प्रोटोकोल के अनुसार सामाजिक दूरी सुनिश्चित करते हुए विश्वविद्यालय में कार्यरत कुशल और अकुशल श्रमिकों को अंग वस्त्र (गमछा) और मिठाई देकर सम्मानित किया गया। मजदूरों को राशन भी वितरित किया गया। कुलपति ने कहा कि मजदूरों के सहयोग के बिना देश का विकास संभव नहीं है। 
कार्यक्रम के दौरान मौजूद मजदूर
कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में मंगलवार को ‘मई दिवस’ सादगी से मनाया गया। लाकडाउन के मद्देनजर सामाजिक दूरी का ध्यान रखते हुए महिला और पुरुष मजदूरों को गमछा और मिठाई देकर सम्मानित किया गया। विश्वविद्यालय प्रशासन ने मजदूरों को राशन वितरित किया। कुलपति डा.यूएस गौतम ने कहा कि मजदूरों की मेहनत से विश्वविद्यालय प्रगति को ओर बढ़ रहा है। यहां कार्यरत श्रमिक विश्वविद्यालय के परिवार का अभिन्न हिस्सा हैं। किसी संस्थान का मजबूत आधार उसके प्रगति के लिए आवश्यक है। मजबूत आधार सुनहरा भविष्य तय करता है। श्रमिकों के सहयोग बिना विकास संभव नहीं है। श्रमिकों के कठिन परिश्रम से विकास की तरफ बढ़ते हंै। कृषि के क्षेत्र में विभिन्न गतिविधियों के लिए कुशल और अकुशल श्रमिकों की आवश्यकता पड़ती है। कृषि क्षेत्र में सफलता प्राप्त करते हैं। इस मौके पर विश्वविद्यालय अधिष्ठाता उद्यान प्रो.एसवी द्विवेदी, सह अधिष्ठाता वानिकी डा.संजीव कुमार, निदेशक प्रशासन एवं अनुश्रवण डा. बीके सिंह, सह निदेशक प्रसार डा. नरेंद्र सिंह, डा.अरुण कुमार, डा.भालेन्द्र सिंह राजपूत, डा.अनिकेत कोल्हापुरे आदि उपस्थित रहें।








No comments