Latest News

कोरोना वायरस से हारा सुपर पावर अमेरिका..........................

देवेश प्रताप सिंह राठौर 
(वरिष्ठ पत्रकार)

आज कोरोना वायरस के कारण विश्व की महाशक्ति अमेरिका आज घुटने टेके हैं विश्व के किसी कोने में कोई भी देश हो उस देश में विश्व का इकलौता देश अमेरिका अपनी दखलअंदाजी है जरूर दिखाता है परंतु आज कोरोना वायरस के कारण लाखों लोग कोरोना संक्रमित हैं हजारों की संख्या में कोरोना के लोग मृत्यु हुई है अमेरिका सुपर पावर आज चाइना महावारी कोरोना को चीन के द्वारा भेजा गया चीन के लैब से निक लाइए जन्न किसने पूरा विश्व बहुत सी सुपर पावर को हिला के रख दिया सुपर शक्ति में फ्रांस जर्मनी ब्रिटेन इजराइल आदि शक्तियां पूरी सिस्टम्स वहां की सरकारों का हिला दिया है वहीं पर चीन बुहान शहर के सभी मार्केट चीन के द्वारा खोल दिए गए हैं जिस महावारी वाला मार्केट जहां पर जानवरों की बिक्री होती है मास हर तरह का खाने वाले हैं चीन बुहान्न शहर फिर अपनी पुरानी जिंदगी में आ गया है आज चीन की गलती के कारण पूरा देश तथा पूरा विश्व आज बहुत बड़ी महामारी में निपटने के लिए हर देश अपने स्तर से कार्य कर रहा है क्योंकि इसको रोना वायरस की कोई दवाई नहीं है लेकिन चीन ने अपनेूूूूूूूूूूूूूू। बुहान शहर से अन्य चीन के राज्यों में नहीं पहुंचा यह एक अचंभा है कि उसने उसे अपने देश में और जिस जगह से यह वायरस निकला फिर वहीं तक सीमित रह गया और चीन के अन प्रांतों में कहीं नहीं फैला चीन की यह सोची समझी रण नीति है। क्योंकि चाइना ने कोरोना वायरस क्या अनुमान होते ही उसने सभी प्रतिबंध आवागमन बुहान शहर से सीमित रखा और पूरे विश्व को धोखा देता रहा आज अमेरिका चीन को जिस तरह बात कर रहे हैं इतना नुकसान होने के बाद अमेरिका चीन को चेतावनी दे रहा है और कह रहा है साक्ष्य मिलने पर बहुत बड़ी कीमत चीन को चुकानी पड़ेगी। पूरा विश्व पूरा विरोधी सब इस महामारी में चीन के खिलाफ रडनीत बनाकर चीन पर आर्थिक दबाव बनाते हुए उसे अंतरराष्ट्रीय स्तर से सभी देशों को मिलकर कठोर से कठोर कदम चीन के प्रति उठाना चाहिए क्योंकि चीन का यह कृत्य इतना विश्व के लिए दुखदाई है क्योंकि यह को रोना वायरस यह अपनी सुरक्षा और इसकी सरकार द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों के अनुसार ही पुरोला वायरस समाप्त हो पाएगा क्योंकि आज यह कहना संभव नहीं है लॉक डाउन अब तक भारत में चलेगा क्योंकि मरीजों की संख्या कम नहीं हो रही है रही कसर तबलीगी जमात ई ने पूरा कर दिया और यह कोरोना वायरस का सबसे अधिक यही लोग हैं और इन्हीं की बिरादरी के हैं। क्योंकि यह लोग समझना नहीं चाहते धर्म-कर्म के नाम से सिर्फ लड़ना जानते हैं और हिंदू के साथ इनकी गलत मानसिकता ईशा द्वेष हमेशा चरम पर रहा है इसके पहले आपने कई बार देखा गया है पूर्व सरकारों द्वारा उत्तर प्रदेश में कितने
दंगे फसाद होते थे आज उन दंगों पर अंकुश लगा है परंतु लाख इन लोगों के समझाने की बात की जाए परंतु 90% लोग हिंदुत्व विरोधी हैं जिनके कारण पूरा भारत नियमों के कानून को तोड़ते हुए देश को गंभीर स्थिति में खड़ा कर देते है। जिस तरह से पालघर में साधुओं की हत्या हुई थी टीवी चैनल रिपब्लिक भारत के एडिटर अरनव गोस्वामी पर जिस तरह उनके ऊपर हमला किया गया सत्य बात करने वालों को इसी तरह दबाया जाता रहा है लेकिन हम अरनव गोस्वामी जी के साथ हैं तथा पालघर में हिंदू साधुओं की हत्या पर न्याय मिलना चाहिए और यह जंग रिपब्लिक भारत द्वारा मिशन को जारी रखेंगे किसी के दबाव में नहीं झुकेंगे असलियत को सामने लाना होगा इस साधुओं की हत्या के पीछे कौन लोग हैं।
कोरोना वायरस का संक्रमण जितनी तेजी से फैला है उसको लेकर अमरीकी लोग भी डरे हुए हैं. दुनिया के सबसे ताकतवर देश के पास इस वायरस का कोई इलाज नहीं हैइस वायरस के सामने अमरीका भी संघर्ष कररहा है जिसको थोड़े समय पहले ही अमरीकी राष्ट्रपति ने 'राजनीतिक छल' कह कर खारिज कर दिया था. अमरीका को दुनिया के दूसरे हिस्सों में परफेक्ट मुल्क के तौर पर देखा जाता है, जहां हर कोई किसी भी कीमत पर आकर बस जाना चाहता है. लेकिन ये कुछ दिनों पहले की बात लग रही है. इन दिनों अमरीका की दूसरी ही तस्वीर उभरी है,लेकिन कोरोना वायरस के सामने अमरीका आंतरिक तौर पर कमज़ोर साबित हुआ है.

No comments