Latest News

बच्चों और गर्भवतियों को अब नहीं झेलनी पड़ेगी परेशानी

आज से पूरे जनपद में टीकाकरण सेवाएं हुई बहाल 
कुल 261 केन्द्रों पर सत्र लगाकर हुआ टीकाकरण 
  
बांदा, के0 एस0 दुबे । लाकडाउन के कारण सीमित तौर पर दी जा रही नियमित टीकाकरण व अन्य सेवाओं को बुधवार से जनपद के सभी क्षेत्रों में बहाल कर दिया गया है। इसके चलते अब हाटस्पाट और कन्टेन्मेंट जोन वाले क्षेत्रों के बच्चे और गर्भवती महिलाएं भी टीकाकरण का लाभ ले सकेंगे। 
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. आरएन प्रसाद ने जानकारी दी कि कोविड-19 के कारण हुए लाक डाउन के चलते बच्चों के टीकाकरण का चक्र पिछड़ गया था। कोरोना संक्रमण के चलते कुछ दिनों से सीमित क्षेत्रों में टीकाकरण, मातृ व नवजात स्वास्थ्य सेवाएं दी जा रही थी। आज से इन सेवाओं को जनपद के सभी ब्लाकों और शहरी क्षेत्र में पुनः शुरू कर दिया गया है। जनपद के कुल 261 केद्रों पर सामाजिक दूरी का पालन करते हुए टीकाकरण सत्र
सत्र के दौरान मौजूद स्वास्थ्य कर्मचारी
लगाए गए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संतोष कुमार के निर्देश पर हाटस्पाट क्षत्रों से एक किलोमीटर की दूरी पर भी सत्रों का आयोजन किया गया ताकि शत प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित हो सके। गर्भवती महिलाएं और बच्चे अब हर बुधवार और शनिवार सत्र स्थलों पर जाकर सेवाओं का लाभ ले सकते हैं। उन्होंने बताया कि इससे पहले 6 मई से जनपद में चार केन्द्रों- जसपुरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, कमासिन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बांदा व अतर्रा पीपीसी पर वीएचएनडी व नियमित सत्र लगाकर सेवाएं दी जा रही थी। जिसके तहत पिछले शानिवार तक कुल 211 सत्र लगाकर 1062 गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच और टीकाकरण तथा पांच वर्ष तक के 3398 बच्चों को टीकाकरण का लाभ दिया गया था। 

सामाजिक दूरी और कोविड प्रोटोकाल के पालन के साथ दी जा रहीं सुविधाएं  
बांदा। कोरोना संक्रमण को देखते हुए सभी सत्र स्थलों पर कोविड प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। सत्र स्थल व उपकरणों को इस्तेमाल से पहले सेनिटाइज किया जा रहा है व सत्र के दौरान सामाजिक दूरी का पालन किया जा रहा है। हाथ धोने के लिए एक हैण्डवाशिंग काउंटर में पानी और साबुन की व्यवस्था के साथ-साथ लाभार्थियों को मास्क पहनने और लाक डाउन का पालना करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. आरएन प्रसाद व आरआई एआरओ राधा शर्मा ने बडोखर ब्लाक के गुरेह गांव स्थित सबसेंटर में आयोजित सत्र का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान जिला वैक्सीन कोल्ड चैन मैनेजर डा. अंजना पटेल व एएनएम सुमन भी मौजूद रहीं।

3 comments: