Latest News

कानपुर:- शिक्षकों एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के वेतन अवरुद्ध करने के विरोध में माध्यमिक शिक्षक संघ ने उठाई आवाज

जिला विद्यालय निरीक्षक तथा उनके लेखा संगठन द्वारा प्रधानाचार्यो, शिक्षकों एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के वेतन अवरुद्ध करने के विरोध में माध्यमिक शिक्षक संघ ने आवाज उठाई तथा मा०मुख्यमंत्री जी,मा० उप मुख्यमंत्री जी,प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा एवं जिलाधिकारी सहित चार उच्च अधिकारियों को ज्ञापन भेजा।
कानपुर सवांददाता अब्दुल निसार:- उक्त सूचना उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के महामंत्री  हरिश्चंद्र दीक्षित ने एक विज्ञप्ति में दी।विज्ञप्ति के अनुसार जिला विद्यालय निरीक्षक कानपुर नगर तथा उनके अधीन लेखा अधिकारी तथा लेखाकार प्रधानाचार्यो, शिक्षकों एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों का वेतन अवरुद्ध कर रहे हैं।जिसे अनुचित बताते हुए तत्काल अवमुक्त करने की मांग की है।वेतन अवरुद्ध करने वालों में श्री गणेश शंकर विद्यार्थी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य श्री बृजेंद्र कुमार मिश्रा का फरवरी 2020 का वेतन  अवरुद्ध करना,मोहन विद्या मंदिर इंटर कॉलेज गोविंद नगर कानपुर के प्रधानाचार्य श्री संत कुमार दीक्षित का जनवरी 2020 का वेतन  अवरुद्ध करना,फेयर कमेटी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य सुबोध कुमार कटियार का 35 माह का वेतन और बिल्हॊर इंटर कॉलेज प्रवक्ता सुरजीत सिंह का दिसंबर 2019 से अब तक का वेतन  अवरुद्ध करना,आदर्श बालिका सेकेंडरी स्कूल के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी दिनेश कुमार का दिसंबर 2019 से जनवरी 2020 तक का वेतन अवरुद्ध करना और राजेश कुमार चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी श्री गांधी विद्या पीठ इंटर कॉलेज घाटमपुर का 3 माह का वेतन  अवरुद्ध करना, पंकज कुमार वर्मा सहायक लिपिक मोहन विद्या मंदिर इंटर कॉलेज गोविंद नगर कानपुर नगर के लिपिक का वेतन अवरुद्ध करना शामिल है।उक्त के अतिरिक्त श्री मुनि हिंदू इंटर कॉलेज गोविंद नगर कानपुर नगर समेत तीन विद्यालयों के वेतन घोटाले के गंभीर प्रकरण पर कर्नलगंज थाने में दर्ज एफआइआर के बावजूद अभी तक मौजूदा समय में घोटालों में लिप्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को न हटाए जाना एक साजिश का प्रतीक है तथा लिप्त अधिकारी कर्मचारी लाकडाऊन का फायदा उठाकर कार्यालय में आ रहे हैं तथा सबूत मिटा रहे हैं। माध्यमिक शिक्षक संघ के कुछ अधिकारियों को पत्र भेजकर उन्हें तत्काल हटाने एवं दंडित करने की मांग की है।संगठन ने या भी निर्णय लिया है कि लाकडाउन की समाप्ति के बाद निर्णायक संघर्ष करेगा तथा प्रथम चरण में कानपुर नगर से मुख्यमंत्री आवास के लिए पीड़ित प्रधानाचार्यो,शिक्षकों एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के साथ पैदल मार्च करेगा और लखनऊ पहुंचकर ज्ञापन देगा।

3 comments: