Latest News

जाबकार्ड बनाकर इच्छुक प्रवासी को दें रोजगार: आयुक्त

हाट स्पाट, शेल्टर होम, बार्डर, कंट्रोल रूम का निरीक्षण कर जानीं समस्याएं

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। मण्डलायुक्त गौरव दयाल ने जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय, पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल के साथ शेल्टर होम राजकीय तुलसीदास महाविद्यालय बेड़ी पुलिया, नगर  के हॉट स्पॉट क्षेत्र चमड़ा मंडी, फुलगंजी, रामपुरी का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया है। देवांगना मार्ग मप्र बॉर्डर तथा कलेक्ट्रेट कंट्रोल रूम का भी औचक निरीक्षण किया।
मण्डलायुक्त ने तहसीलवार कर्मचारी, अधिकारियों को निर्देश दिए कि सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए कार्य करें। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रवासियों की थर्मल स्क्रीनिंग कराई जा रही है। रजिस्ट्रेशन भी किया जा रहा है कि कौन प्रवासी किस तहसील तथा किस गांव का निवासी है। इसके बाद उन्हें राहत किट भी उपलब्ध कराकर गंतव्य तक छोड़ने की व्यवस्था वाहनों ये कराई जाती है। मंडलायुक्त ने राहत किट को भी खुलवा कर देखा। जिसमें सभी आवश्यक वस्तुएं पाई गई। उन्होंने कहा कि यहां पर साफ सफाई का विशेष ध्यान दें। प्रतिदिन सैनिटाइज अवश्य कराया जाए। इसके साथ ही नगर क्षेत्र तथा गांव जो हॉट स्पॉट घोषित किए गए हैं। उन पर होम डिलीवरी के माध्यम से सभी आवश्यक वस्तुएं पहुंचाई जाए तथा दवाओं आदि का छिड़काव लगातार होता रहे। 
निरीक्षण करते आयुक्त, डीएम, एसपी।
मण्डलायुक्त ने देवांगना मप्र बॉर्डर के निरीक्षण के दौरान पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोई भी प्रवासी पैदल, साइकिल तथा दो पहिया वाहन से न जाने पाए। अगर मिलें तो तत्काल वाहन की व्यवस्था कराते हुए क्षेत्र के क्वॉरेंटाइन सेंटर भेजें। थर्मल स्क्रीनिंग कराने के बाद ही गंतव्य स्थल तक भेजने की कार्यवाही सुनिश्चित करें। तत्पश्चात मंडलायुक्त ने कलेक्ट्रेट में स्थापित कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया। जिसमें कंट्रोल रूम प्रभारी अपर उप जिलाधिकारी रामप्रकाश तथा सहायक प्रभारी बसंत कुमार दुबे, जिला कृषि अधिकारी से समस्याओं के बारे में जानकारी की। उन्होंने निर्देश दिए कि जो भी शिकायतें प्राप्त हो रही हैं उनका तत्काल निस्तारण कराएं। निस्तारण का फीडबैक संबंधित व्यक्ति से अवश्य लें। जिलाधिकारी से कहा कि जो प्रवासी गांव आए हैं अगर वह मनरेगा में कार्य करना चाहते हैं तो उनका शत प्रतिशत जॉबकार्ड बनाकर रोजगार दिया जाए। निगरानी समिति को भलीभांति सक्रिय कर प्रवासियों की लगातार गांव का फीडबैक अवश्य लेते रहे। स्वास्थ्य परीक्षण भी समय-समय पर कराया जाए। इस दौरान शासन द्वारा नामित नोडल अधिकारी विशेष सचिव ग्राम्य विकास अच्छेलाल सिंह यादव, मुख्य विकास अधिकारी डॉ महेंद्र कुमार, अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, उप जिलाधिकारी कर्वी अश्विनी कुमार पाण्डेय, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर रजनीश यादव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद कर्वी नरेंद्र मोहन मिश्र, जिला पंचायत राज अधिकारी राजबहादुर सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

3 comments: