Latest News

लाकडाउन में जरूरतमंदों का सहारा बना नारी स्मिता फाउंडेशन

रोटी घर ने पांच सैकड़ा राहगीरों को कराया भोजन 
 
फतेहपुर, शमशाद खान । जरूरतमंदों एवं असहाय तक भोजन एवं राशन पहुंचाने की जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए रोटी घर ने लॉकडाउन के समय सहारा बना हुआ है। जैसा कि आपको विदित है कि कोरोना जैसी महामारी से उबरने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत में लॉकडाउन जारी कर रखा है। लॉकडाउन के समय दिहाड़ी मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट मुंह बाए खड़ा है। जनपद को इस भीषण महामारी में राहत पहुंचाने के लिए नारी स्मिता फाउंडेशन द्वारा संचालित रोटी घर ने आज 53 वें दिन भी भोजन राशन एवं जलपान का वितरण कराया। 
जरूरतमंदों को भोजन वितरित करते रोटी घर के पदाधिकारी।
संचालिका स्मिता सिंह की मानें तो आबूनगर, अहमदगंज समेत अन्य स्थानों के कुल चार परिवारों में राशन का वितरण निज निवास से किया। वही विभिन्न प्रदेशों से आ रहे लगभग 500 प्रवासी मजदूरों के लिए भोजन का इंतजाम भी कराया। सुबह लगभग 100 यात्रियों को जलपान, दोपहर में 200 यात्रियों को लंच पैकेट एवं शाम को 200 यात्रियों को भोजन का वितरण किया गया। इसके अलावा कोरोना वॉरियर्स की भूमिका अदा कर रहे प्रशासनिक कर्मचारियों को जलपान आदि मुहैया कराया गया। अंत में रात्रि में पैदल जा रहे मजदूरों के लिए लैया नमकीन बिस्किट चना पानी इत्यादि का भी वितरण कराया। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन समाप्त होने तक अनवरत रूप से कोरोना के खिलाफ जंग लड़ी जाएगी एवं जरूरतमंदों तक राहत सामग्री भी उपलब्ध कराई जाएगी। वही आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने के लिए भी फाउंडेशन से श्रेय शुक्ला को जिम्मेदारी दी गई। बताया कि अब तक 500 के करीब लोगों को आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करवाया जा रहा है। जिससे जनपद को कोरोना से बचाया जा सके। जनपद को कोरोना मुक्त बनाने के लिए प्रत्येक आधे घंटे में हाथ धुलना चेहरे पर मास्क लगाना एवं एक दूसरे से कम से कम 1 मीटर की दूरी में रहने के लिए जागरूक किया जा रहा है। इस अवसर पर विवेक मिश्रा, धनंजय पांडेय, सुयश, संजीव सिंह, लोकेंद्र सिंह, सोमेंद्र सिंह सेंगर, लवलेंद्र (शानू), रवीन्द्र, विजय, राघवेन्द्र सिंह, मानवेन्द्र (मानू), पंकज, आनन्द तिवारी, शैलेन्द्र, सुमित, शुभम, अमन, अंशुमान आदि लोग मौजूद रहे।

No comments