Latest News

केन्द्र सरकार के फैलने पर माध्यमिक शिक्षक संघ ने जताई नाराजगी

फतेहपुर, शमशाद खान । देश के कर्मचारियों को मिलने वाले महंगाई भत्तों को रोक कर उसकी अवशेष राशि के भुगतान को न देने के सरकारी फैसले को वापस लेने की मांग को लेकर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष आलोक शुक्ल व जिला मंत्री पुष्पराज सिंह ने नाराजगी का इजहार किया। 
द्वेय नेताओं ने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ाई जीतने के लिए लाकडाउन लागू करें। जो प्रयास सरकार द्वारा किये जा रहे हैं उसकी नेताद्वेय ने सराहना करते हुए कहा कि देश पर आर्थिक संकट भी आया है लेकिन आर्थिक संसाधन जुटाने के लिए सरकारी और अर्द्ध सरकारी शिक्षकों व कर्मचारियों को ही लक्ष्य बनाने को अव्यवहारिक बताया है। उन्होने तर्क दिया कि एक ओर
माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष आलोक शुक्ल।
प्रधानमंत्री प्राइवेट सेक्टर से कह रहे हैं कि अपने कर्मचारियों का वेतन न काटे बल्कि हो सके तो अग्रिम भुगतान दे दें। वहीं सरकारी व अर्द्ध सरकारी शिक्षक व कर्मचारियों की महंगाई भत्ता रोक कर उसका अवशेष न देने एकतरफा फैसला है। कहा कि ऐसा लगता है कि इस वायरस को लाने और फैलाने में शिक्षक व कर्मचारियों पर ठीकरा फोड़ा जा रहा है। जिसकी भरपाई उन्हीं से की जा रही है। उन्होने बताया कि तुगलक काल व पूर्व में शिक्षकों ने धर्म, वर्ग और भेद के आधा पर जजिया कर लगाकर मनाने पूर्ण गलत वसूली की नजीर दी थी। शिक्षकों, कर्मचारियों में पनप रहे रोष का जिक्र करते हुए नेताद्वय ने महंगाई वृद्धि रोकने के आदेश को वापस लेने की मांग केन्द्र व राज्य सरकारों से की है। 

No comments