Latest News

स्वास्थ्य परीक्षण बाद करें होम क्वारंटीन: यादव

डीएम ने बिन्दुवार समीक्षा कर अधिकारियों को दिए निर्देश
प्रवासियों को गंतव्य तक भेजने को प्राईवेट बसों की हो व्यवस्था 

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। कोरोना वायरस रोकथाम एवं बचाव को शासन से जनपद में नामित नोडल अधिकारी, विशेष सचिव ग्राम्य विकास अच्छेलाल सिंह यादव, जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक संपन्न हुई।
नोडल अधिकारी ने कहा कि गांव में होम क्वॉरेंटाइन होने वाले प्रवासी कामगारों को कोई असुविधा न हो। शत प्रतिशत स्वास्थ्य परीक्षण कराएं फिर गांव भेजें। प्रवासी को होम क्वॉरेंटाइन पर भेजने के पहले राहत पैकेट दें। निगरानी समिति के माध्यम से घर में रहने आदि व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी जाए। गांव का व्यक्ति यह नहीं जानता कि यह वायरस कैसे फैलता है इसके बारे में विस्तार से बताएं। अधिकारी व कर्मचारी मास्क, सैनिटाइजर का प्रयोग अवश्य करें। सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन सुनिश्चित करें और बचा कर रखें। जिलाधिकारी ने उप
बैठक में निर्देश देते नोडल अधिकारी, डीएम।
जिलाधिकारियों, खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोई भी व्यक्ति अब स्कूलों पर नहीं रहेंगे। घर पर 21 दिन होम क्वॉरेंटाइन रहे। जिनके पास कोई संक्रमण नहीं है तथा जो संक्रमित हैं उन्हें स्वास्थ्य केंद्रों पर रखा जाए। उन्होंने यह भी कहा कि सड़क पर कोई प्रवासी पैदल व साइकिल से नहीं चलेगा। सेक्टर मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट अनुपालन सुनिश्चित कराएं। शेल्टर होम पर पानी, शौचालय, बेड, भोजन आदि व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर ले। सामुदायिक किचन पर सफाई रखें। प्रतिदिन उप जिलाधिकारी भोजन की क्वालिटी को जांच करें। किसी स्तर पर कमी नहीं होना चाहिए। अगर कोई कमी पाई जाएगी तो संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। 
सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी से कहा कि उप जिलाधिकारियों से संपर्क कर प्राइवेट बसों की व्यवस्था कराएं। ताकि बाहर से आने वाले प्रवासी कामगारों को गंतव्य स्थानों तक भेज सके। जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारियों से कहा कि निगरानी समिति को सक्रिय कर गूगल ऐप के माध्यम से कोरोना वायरस के बचाव से संबंधित जानकारी दी जाए। एसडीएम से कहा कि जो प्रवासी ट्रेनों से आ रहे हैं उनकी भोजन, पानी, स्वास्थ्य परीक्षण, जिला, गांव में भेजने आदि सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर लें। चित्रकूट इंटर कॉलेज कर्वी में सभी यात्रियों के रुकने की व्यवस्था करा ले। वहां पर जिलावार काउंटरपार्ट भी बना लें। अपर जिलाधिकारी से कहा कि यात्रियों की फीडिग समय से कराएं और उन्हें राहत किट देने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। जिन कर्मचारियों को ड्यूटी में लगाना है उन्हें तत्काल लगा लिया जाए। ताकि कोई समस्या न उत्पन्न हो। उन्होंने आरोग्य सेतु एप डाउनलोड पर सभी संबंधित अधिकारियों से कहा कि जिन को जो लक्ष्य दिया गया है वह अपना शत-प्रतिशत पूरा करें। प्रभारी अधिकारी कंट्रोल रूम से कहा कि जो समस्याएं प्राप्त होती हैं उनका तत्काल निस्तारण कराएं। संबंधित व्यक्ति से निस्तारण का फीडबैक अवश्य लें। 
उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि मुख्यमंत्री हेल्प लाइन की जो समस्याएं प्राप्त हो रही हैं तो संबंधित विभाग स्थलीय निरीक्षण करके निस्तारण करा कर आख्या दे।जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार से कहा कि प्रॉपर तरीके से सेनीटाइज कराएं तथा जनपद न्यायाधीश के न्यायालय, आवासों पर भी प्रतिदिन सैनिटाइज कराया जाए। पीपीई किट और कैप की व्यवस्था करा ले। सभी चिकित्सालयों पर पर्याप्त सुविधाएं रहे। कहीं पर कोई कमी नहीं होना चाहिए। आयुष तथा आयुर्वेदिक व होम्योपैथिक चिकित्सकों की भी ड्यूटी लगाएं। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से कहा कि जिला अस्पताल पर इमरजेंसी उपचार शुरू करा दें। टेलीविजन का भी कार्य शुरू करें। उन्होंने जिला पूर्ति अधिकारी से कहा कि निशुल्क खाद्यान्न का वितरण शत प्रतिशत कराएं। सभी तहसीलों पर राहत पैकेट को भी समय से भेजें। डिप्टी आरएमओ से कहा कि गेहूं क्रय केंद्र प्रभारी इटखरी के खिलाफ कार्यवाही करें। क्रय केंद्रों का निरीक्षण कर प्रतिदिन की रिपोर्ट दें। उन्होंने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद करबी तथा जिला पंचायत राज अधिकारी से कहा कि जो लोग मास्क लगाए सार्वजनिक रूप से भ्रमण करते हुए पाए जाएं तो उनसे सौ रुपए का जुर्माना तत्काल कराएं और हॉटस्पॉट के क्षेत्रों में होम डिलीवरी जारी रखें। कहीं पर कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। उन्होंने खंड विकास अधिकारियों से कहा कि कोविड-19 के सावधानी के पंपलेट हिंदी में छपवा कर गांव में बंटवाएं।
अपर पुलिस अधीक्षक से कहा कि ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त किया जाए। कहा कि मनरेगा के कार्यों में अगर कहीं पर कोई गड़बड़ी मिली तो बीडीओ जिम्मेदार होंगें। कहीं पर कोई अनियमितता नहीं होना चाहिए। अन्यथा सचिव, ग्राम प्रधान और  रोजगार सेवक के साथ-साथ बीडीओ के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। डीसी मनरेगा से कहा कि अगर कोई दोषी पाया जाए तो उसके खिलाफ कार्यवाही अवश्य करें। कार्यों के बोर्ड अवश्य लगाया जाए। उन्होंने पशु, कृषि, विद्युत आपूर्ति, पेयजल आपूर्ति, बैंक, पोस्ट ऑफिस, पंचायतीराज, औषधि, आबकारी आदि विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डॉ महेंद्र कुमार, अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चैधरी, एसडीएम, बीडीओ आदि अधिकारी मौजूद रहे।

No comments