Latest News

कानपुर:- कोरोना इफेक्ट ! तो क्या दोस्त अब एक दूसरे का आलिंगन नहीं करेंगे ? ...ज्योति बाबा

जरूरतमंदों के बीच आज भी ज्योति बाबा ने मास्क एवं सैनिटाइजर बाटेविश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है की अर्थव्यवस्था को खोलने यानी कि 780 करोड़ लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण करना होगा ,जो संभव नहीं दिखता है ,इसीलिए हमें कोरोना से बचने के लिए व उसके साथ जीने के लिए फिजिकल डिस्टेंसिंग,  मास्क एवं सैनी टाइजर के प्रयोग के साथ ,धरती को पेड़ों से भरना होगा,  जीवन शैली को बेहतर रखना होगा ,तभी हम स्वयं और आने वाली पीढ़ियों को नए वायरस के हमलो से बचा सकते हैं, 
कानपुर सवांददाता अब्दुल निसार:- उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में कानपुर केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन,  स्वच्छ क्रांति अभियान संस्था के सहयोग से करोना मिटाओ नशा हटाओ स्वस्थ जीवन शैली अपनाओ कार्यक्रम के तहत माल रोड में मास्क एवं सैनीटाइजर वितरण कार्यक्रम के बाद अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए लोगों से कहीं ,ज्योति बाबा ने आगे कहा कि वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना के बाद हमारा जीवन पहले जैसा कतई नहीं रहेगा, इस बारे में सोचते ही दिल में एक हूक सी उठती है कि पर्यटन स्थलो का सैर सपाटा, भीड़ भरी शादियां ,मेलो की धक्का मुक्की, मंदिर में दर्शन हेतु धक्का-मुक्की ,नाटकों की मस्ती सिनेमा और रेस्टोरेंट में बर्थडे पार्टी ,क्या यह सब छूट जाएगा l जब की प्रेम और सौहार्द के लिए शारीरिक निकटता जरूरी है, क्या माताएं अब अपने संतानों को बाहों में नही भरेगी, क्या दोस्त एक दूसरे का आलिंगन नहीं करेंगे l क्योंकि वैज्ञानिक तो कह रहे हैं कि कम से कम 2022 तक व्यक्तिगत दूरी का पालन करना होगा l  तब तक शायद दूरी बरतना मनुष्य का स्वभाव ही बन जाए l हम कह सकते हैं कि मनुष्य का कोरोना वायरस के साथ युद्ध जारी है इस युद्ध में वही जीतेगा ,जो मजबूत इच्छाशक्ति व रोग प्रतिरोधक क्षमता को तीव्र करते हुए सामूहिक रुप में गवर्नमेंट मेडिकल एडवाइजरी का अनुसरण स्वेच्छा से करेगा l अन्य प्रमुख सहयोगी स्वास्थ सैनिक श्याम गुप्ता, spo, शिव कुमार गुप्ता, मुन्ना चौरसिया ,शीला ,चिंटू अक्षांश चतुर्वेदी आदि थे l

2 comments: