Latest News

लाखों से निर्मित टंकी बनी शोपीस, हैंडपंप भी लंबे समय से खराब

मोहल्लेवासी बेतवा नदी से पानी भरकर बुझा रहे प्यास

कोटरा (जालौन), अजय मिश्रा । प्रदेश सरकार द्वारा अच्छी योजनाएं लागू करने के बाद भी नगर पंचायत कोटरा जनता से जुड़ी प्रमुख समस्याओं पर गंभीरता से ध्यान नहीं देना चाहती। आलम यह है कि नगर पंचायत कोटरा द्वारा छह माह पूर्व लाखों रुपये की लागत से एक टंकी व हैंडपंप की बोरिंग कराकर उसमें समरसेबिल डलवायी गयी थी ताकि मोहल्ला नारेघाट के निवासियों को गर्मियों के सीजन में पानी सहजता से मिलता रहेगा। लेकिन लाखों रुपये खर्च होने के बाद भी टंकी शोपीस साबित हो रही है।
खराब टंकी की कहानी बताते कस्बावासी।
बताया जाता है कि नगर पंचायत कोटरा में 6 महीने पहले पानी की टंकी बनी थी। यह टंकी कोटरा के नारे घाट मोहल्ला में बनाई गई थी। लगभग 5 लाख की लागत से टंकी को बनाया गया था, आज यह सफेद हाथी की तरह खड़ी है। लोग एक किलोमीटर दूर वेतवा नदी से भरके पानी की पूर्ति कर रहे हैं। नगर पंचायत द्वारा ठेका सजातीय ठेकेदार को दिया गया था निर्माण कार्य की गारंटी ठेकेदार द्वारा दो साल की रहती है लेकिन टंकी बनाने के बाद सिर्फ दो माह ही चल सकी। वहीं यह भी जानकारी है की नगर पंचायत इसका उचित निराकरण नहीं कर रहा है न ही टंकी का रखरखाव कर रहा है और ना ही इसकी मरम्मत करा रहा है। और हालात ऐसे हैं कि समरसेविल खराब होने के कारण पानी गांव में पानी नहीं है। लोगों ने इसकी शिकायतें भी की पर प्रशासन लोगों की कहां सुन रहा है। ऐसा लोगों का कहना है। साथ ही लोगों ने प्रशासन से अपील की कि वह जल्द से जल्द टंकी की मरम्मत कराई जाए और हमने विषाणु रहित पानी मिल सके जिससे हम स्वस्थ रहें।

1 comment: