Latest News

रहनुमाओं ने दिखाई मानवता, भूखे गरीबों को दे रहे भोजन

मास्क और सेनेटाइजर के साथ राशन किट, फल और सब्जी का हो रहा वितरण 

बांदा, के0 एस0 दुबे । लाक डाउन में परेशानियों से जूझने वाले गरीबों, असहायों और बेसहारा लोगों की मदद के लिए जिस तरह से शहर के जागरूक लोगों, समाजसेवियों, संगठन प्रमुखों और राजनेताओं ने अपने कदम बढ़ाए, वह बहुत ही सराहनीय है। राजनीति से परे कर्तव्य पथ पर चलकर मददगारों ने गरीबों के प्रति अपनी हमदर्दी को जाहिर करने का काम किया है। गरीबों का पेट भरने से ज्यादा दूसरा कोई पुण्य नहीं है 
समाजसेवी सुशील यादव ने गरीबों का पेट भरने के लिए हर संभव प्रयास किया है। उन्होंने अपने स्तर से राशन किट गरीबों को वितरित की। इसके साथ ही मास्क का वितरण भी किया गया है, ताकि उनको संक्रमण से बचाया जा सके। समाजसेवी के इस कार्य की लोगों ने सराहना करते हुए कहा है कि गरीबों की मदद करने से ज्यादा पुण्य किसी दूसरे कार्य में नहीं है। यूथ कांग्रेस कमेटी के पूर्व विधानसभा क्षेत्र महासचिव अलंकार तिवारी ने लाक डाउन
के दौरान गरीबों की मदद करने का काम किया है। फांकाकसी से जूझ रहे गरीबों को भोजन, फल, सब्जी उपलब्ध कराकर उनका पेट भरने का काम कांग्रेसियों के द्वारा किया गया है। कांग्रेस नेता ने कहा कि जब तक लाक डाउन जारी रहेगा, तब तक गरीबों का पेट भरने का काम किया जाएगा। विहिप जिलाध्यक्ष चंद्रमोहन वेदी ने अपने संगठन के पदाधिकारियों के साथ मिलकर गरीबों की मदद करने का काम किया है। शहर के विभिन्न स्थानों पर भ्रमण करते हुए गरीबों को खोजकर उनको राशन, सब्जी और फल का वितरण कराया है। अब भी यह सिलसिला लगातार जारी है। विहिप नेता का कहना है कि गरीबों की मदद करने से ज्यादा पुण्य दूसरे कार्य में नहीं है। समाजसेवी महेंद्र उर्फ शंभू ने कहा कि लाक डाउन एक विपत्ति की तरह पूरे देश में आया। पूरे देश में हाहाकार मच गया। काम धंधा बंद हो गया और प्रवासी अपने घरों को अब भी पैदल और वाहनों से लौट रहे हैं। ऐसे में गरीबों की मदद करना उनका प्रथम कर्तव्य है। शहर के विभिन्न स्थानों में रहने वाले गरीबों के घर जाकर उन्हें राशन किट और जरूरत का सामान उपलब्ध कराया है। 

1 comment: