Latest News

श्रमिक स्पेशल ट्रेन से वापस आए परदेशी

थर्मल स्क्रीनिंग के बाद बसों से भेजे गए घर
  
बांदा, के0 एस0 दुबे । गुजरात के विभिन्न जिलों में लाकडाउन में फंसे 1220 अप्रवासी श्रमिकों और उनके परिवारवालों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन यहां पहुंची। रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर-दो स्पेशल ट्रेन के आने से पहले ही रेलकर्मी, जीआरपी, आरपीएफ, स्वास्थ्यकर्मी, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी और कर्मचारी अपने तय स्थानों पर मौजूद रहे। गुरुवार को सुबह निर्धारित समय लगभग 6 बजकर 40 मिनट पर जैसे ही श्रमिक स्पेशल पहुंची तो पहले से मौजूद जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल, एसपी सिद्धार्थ शंकर मीणा, एडीएम संतोष बहादुर सिंह,
अपने रूट की रोडवेज बस ढूंढते परदेश से लौटे कामगार
सिटी मजिस्ट्रेट सुरेंद्र सिंह, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर आलोक मिश्रा, कोतवाली प्रभारी दिनेश सिंह, स्टेशन अधीक्षक एसके कुशवाहा, आरपीएफ थाना इंस्पेक्टर एसके जांगिड़ और जीआरपी थानाध्यक्ष रामबरन सिंह कोच नंबर एक की ओर गए। उन्होंने एक-एक कर बोगियों में सवार मजदूरों और उनके परिवारों को नीचे उतराया। सोशल डिस्टेसिंग के लिए बने सर्किल में खड़ा करवाया। उधर, आसपास के जिलों की तहसील के मुताबिक परिवहन निगम की 50 बसें खड़ी थीं। थर्मल स्क्रीनिंग और उनका ब्योरा दर्ज करने के बाद बैरिकेडिंग के रास्ते मजदूरों और उनके परिवार वालों को बसों में बैठाया गया। सुबह करीब 10 बजे तक सभी बसें रवाना कर दी गई। इस श्रमिक स्पेशल ट्रेन में 24 कोच लगाए गए थे। ट्रेन के आने से पहले प्लेटफार्म की सफाई कर सैनिटाइज किया गया था। इसके पूर्व ही प्रशासनिक अफसरों और रेलवे के अधिकारियों ने संयुक्त रूप से प्लेटफार्म का निरीक्षण भी किया था।

No comments