Latest News

जुमा अलविदा की नमाज रोजेदारों ने घरों में ही की अदा

जालौन (उरई), अजय मिश्रा । कोरोना महामारी को लेकर जारी लाॅक डाउन के बीच लोगों ने पवित्र रमजान माह के अंतिम जुमा अलविदा जुमा की नमाज घरों पर ही अदा की। लोगों ने घरों से ही बीमारी के खात्मे की दुआ मांगी। 
इस बार कई धार्मिक त्योहार लाॅक डाउन के बीच ही संपन्न हुए। हालांकि लाॅक डाउन के चलते धार्मिक स्थल तो बंद रहे लेकिन लोगों की भक्ति में कमी नहीं आई। लोगों ने घरों में ही रहकर अपने आराध्य का ध्यान किया। ऐसे ही मुस्लिम समाज के लिए पवित्र रमजान का माह भी लाॅक डाउन के बीच ही पड़ा। जिसमें मस्जिदों के बंद रहने से लोगों ने घरों पर ही रहकर अल्लाह की इबादत की। रात में की जाने वाली विशेष इबादत तराबीह की घरों पर ही पढ़ी गई।
मस्जिद के बाहर मुस्तैद पुलिस बल।
वहीं, शुक्रवार को रमजान माह के अंतिम जुमा अलविदा जुमा की नमाज का मुस्लिम समाज में विशेष महत्व है। इस नमाज को भी लोगों ने घरों में रहकर ही अदा किया। शहर काजी व सदर जमीअत उलेमा जालौन मौलाना सुल्तान अहमद ने बताया कि हुकूमत के आदेशों का पालन करना जरूरी है। जब पूरा विश्व कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा है तो लाॅक डाउन का पालन करना ही उचित है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि ईद की भी नमाज घरों परही अदा करें। इस दौरान मस्जिदों व ईदगाहों पर भीड़ इकट्ठा न करें। इस महामारी से बचाव के लिए हाथ मिलाना, गले मिलना व एक दूसरे  के घरों पर जाने से परहेज करें। अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को फोन से ही मुबारकबाद दें।

3 comments: