Latest News

कोरोना वायरस संक्रमित से बचाव करते हुए कार्य करने होंगे.....................

देवेश प्रताप सिंह राठौर 
वरिष्ठ पत्रकार

आज पूरा भारत कोरोना वायरस के कारण लॉक डाउन में चल रहा है बहुत से मजदूर पूरे देश से किस तरह का माहौल अपने घर जाने का तैयार किया है उससे कोरोना वायरस की दरें बढ़ रही हैं क्योंकि एक जमाती ने कोरोना वायरस फैलाने में बहुत ही बड़ा योगदान दिया जिसका मुखिया साद आज तक पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया है। कोरोना वायरस ऐसा वायरस है बिना वैक्सीन बने इससे निजात पाना विश्व को कोरोना वायरस से निजात नहीं मिलेगी जब तक इसकी कोई वैक्सीन नहीं बन जाती यह बात विश्वा स्वास्थ्य संगठन द्वारा कही गई है। व्यक्ति को सुरक्षा के साथ शायद अब जीने की सरकार द्वारा फोर्थ लॉक डाउन में दिशा निर्देश प्राप्त हो। परंतु बहुत सी संस्थाएं ऐसी है जहां पर लोग नियमों का पालन किसी सूरत में नहीं हो सकता क्योंकि वहां पर जब समझदार लोग पढ़े लिखे लोग की संख्या कम है तथा किसी न किसी माध्यम से और नौकरी में जुड़े हुए हैं वहां पर लॉक डाउन के नियमों का पालन होना बड़ी कठिन समस्या है। क्योंकि ज लॉक डाउन लगा है उससे पहले से सरकार ने अपनी गाइडलाइन ने दी थी कोई हाथ ना मिला है बहुत सी चीजें ऐसी थी तो पहले से लोगों को बताई जा रही थी सरकार के द्वारा परंतु बहुत सी संस्थाएं के कार्यकर्ता यह कहते थे कोई कोरोनावायरस नहीं है यार गले मिलो हाथ मिलाओ जो लोग आज
भी हैं जिन्हें हाथ ना मिलाओ घने ना मिलाओ तो उनकी सोच होती है यह बहुत ही दुष्ट आदमी है इसे बताया जाएगा तथा उसका विरोध उच्च अधिकारियों के समक्ष रखने लगते हैं यह धारणा बहुत सी संस्थाओं में पाई गई है। कैसे लॉक डाउन के नियमों का पालन होगा सरकार द्वारा दिए गए निर्देश पर डिस्टेंस बनाते हुए और सिस्टम का पालन करते हुए तभी इसको रोना वायरस से कार्य हो सकता है नहीं तो देश में कुरौना की गति और तेजी से बढ़ेगी क्योंकि यहां पर नियम तोड़ने वाले बहुत है समझने वालों की बहुत कमी है जो आज आप बहुत से रूप में देखे जा सकते हैं टीवी चैनलों में इस तरह की बार जाते हैं होती रहती हैं लाख डाउन का पालन करने वाले सिपाही लोग जब हम लोगों को समझाते हैं तो उनसे मारपीट करने की घटनाएं सामने आ रही है। जब इस तरह के लोग जहां होंगे वहां पर कोरोना संक्रमितका बचाव बड़ा मुश्किल है। घोसी जिले कोरोना वायरस से बचे हुए थे उत्तर प्रदेश में वहां पर उन्नाव में 6 संख्या हो गई है कुरौना वायरस की बहुत से क्षेत्र हॉटस्पॉट घोषित कर दिए गए हैं जालौन में भी बड़े हैं कानपुर लखनऊ में तो बहुत ही ज्यादा कोरोनावायरस के लोग हैं झांसी में संख्या 30 हो गई है और बहुत सी जगह है कोरोना वायरस नहीं था वहां 2या चार की संख्याओं में जिले में कोरो ना संक्रमित होने लगे हैं। ब्लॉक डाउन है तब यह हालात है लॉक टाउन हटे गा तो क्या स्थित होगी। अगर हर व्यक्ति सरकार के नियमों को माने तो ऑफिस में कार्य सुचारू रूप से किए जा सकते हैं और कुरौना से बचाव भी है हो सकता है परंतु इस देश में मैं गुस्सा हुआ है मैं ही विनाश का कारण होता है। जो  संस्थाओं के कर्मचारियों में व्याप्त है।

No comments