Latest News

सत्य पर आधारित संघर्ष, व्यर्थ नहीं होता...........................

देवेश प्रताप सिंह राठौर 
(वरिष्ठपत्रकार)

व्यक्ति के जीवन में सब कुछ आसानी से मिल जाए उसकी वह कदर नहीं करता संघर्ष सत्य के आधार पर किया हुआ परेशानी दिक्कतें तो आती हैं परंतु संघर्ष से विजयश्री तो प्राप्त होती है। किसी ने सत्य कहा है कर्म करो फल की इच्छा ना करो कुछ लोग कर्म करने का नाटक करते हैं और अपने को प्रदर्शित करते हैं वही समाज या संस्था उन लोगों को दिखावे में वह कार्य के रूप में दिखाई देते हैं परंतु असली कार्य करते हैं जो कहीं भी किसी की जगह उन्हें सम्मान नहीं मिलता और अन्याय का भागी होते हैं। आज हम कहे संघर्ष ही जीवन है लेकिन संघर्ष न्याय प्रिय होना चाहिए संघर्ष सत्य के लिए होना चाहिए संघर्ष अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए होना चाहिए संघर्ष की बहुत ही भिन्नता  हैं ।संघर्ष यह एक ऐसा अनुभव है जिससे शायद ही दुनिया का कोई व्यक्ति वंचित हो। हमें बचपन से सिखाया जाता हैं कुछ भी पाने के लिए संघर्ष करना चाहिए पड़ता है। बिना इसके कभी कुछ हासिल नहीं होता। समाज में प्रतिष्ठा, नाम-शोहरत, रुपया-पैसा, तरक्की या फिर पढ़ाई में अव्वल होना हो, चाहे जो भी लक्ष्य हो उसे
प्राप्त करना बिना संघर्ष के संभव नहीं।इसमें कोई दोराह नहीं की संघर्ष जीवन को तराशता है, निखारता है, सँवारता है और फिर हमें ऐसे साँचे में गढ़ता है जिसकी प्रसिद्धि दुनिया करते नहीं थकती। शायद यही वो मुकाम होता है जिसके लिए मनुष्य अथक प्रयास करते जाता है जिसे हम संघर्ष कहते हैं। इसके पश्चात जो सफलता प्राप्त होती है निसंदेह वो अतुलनीय होती हैसंघर्ष की के उतार-चढ़ाव का अनुभव कराता है, अच्छे-बुरे का ज्ञान करवाता हैं, सतत सक्रिय रहना सिखाता है, समय की कीमत सिखाता है जिससे प्रेरित होकर हम सशक्तिकरण के साथ फिर से अपने लक्ष्य के प्रति समर्पित होते है और जीवन जीने के सही तरीके को सीखते हैं।दुनिया का हर व्यक्ति जीवन में सफलता की उम्मीद करता हैं जिसके लिए वो अथक प्रयास भी करता है। कई बार कुछ अलग करने की चाह और प्रबल प्रेरणा से व्यक्ति अपने मुकाम के करीब पहुँच भी जाता है लेकिन कुछ कठिन संघर्ष को सामने देख सफलता से वंचित हो जाता है।वे नहीं जान पाते की उनके साथ ऐसा क्यों होता है जिस कारण उनके सपने अधूरे रह जाते है और जीवन के अंतिम पलों तक उनकी इच्छाएँ आधी-अधूरी रह जाती है। ऐसी इच्छाएँ उन्हें अपने जीवन से निराश करती है क्योंकि अधिकांश लोग अपने संपूर्ण जीवन में यह जान ही नहीं पाते की सफलता कैसे हासिल हो। साथियों जीवन 'संघर्ष' का दूसरा नाम हैं। एक बात हमेशा याद रखिए, अपनी मंजिल का आधा रास्ता तय करने के बाद पीछे ना देखे बल्कि पूरे जुनून और विश्वास के साथ बाकी की आधी दूरी तय करे, बीच रास्ते से लौटने का कोई फायदा नहीं क्योंकि लौटने पर आपको उतनी ही दूरी तय करनी पड़ेगी जितनी दूरी तय करने पर आप लक्ष्य तक पहुँच सकते है।आगे बढ़कर भी अगर सफलता ना मिल पाई तो भी कोई बात नहीं कम से कम अनुभव तो नया होगा। बार-बार हार के भी हिम्मत के साथ अपने टारगेट की तरफ कदम बढ़ाना ही संघर्ष है। अपनी हर असफलता से कुछ सीखिए और निडरता के साथ संघर्ष का दामन थाम के मंजिल की ओर आगे बढ़िए।जब तक जीवन में संघर्ष नहीं होता तब तक जीवन जीने के अंदाज को, सच्ची खुशी को, आनंद को, सफलता को अनुभव भी नहीं कर सकते। जिस तरह बिना चोट के पत्थर भी भगवान नहीं होता। ठीक उसी तरह मनुष्य का जीवन भी संघर्ष की तपिश के बिना ना तो निखर सकता है, ना शिखर तक पहुँच सकता है और ना ही मनोवांछित सफलता पा सकता है।क्योंकि "संघर्ष हमारे जीवन का सबसे बड़ा वरदान है और वो हमें सहनशील, संवेदनशील और देवतुल्य बनाता हैं।" संघर्ष के इस सूत्र को समझिए और उसपर चलने की कोशिश कीजिए। यकीन मानिए आप जीवन को एक अलग रूप से देखने लगेंगेआप सोच रहे होंगे यह सब पढ़ना या लिखना बहुत आसान है लेकिन करना बहुत ही मुश्किल! दोस्तों, जीवन कभी भी आसान नहीं होता। सरलता व सहजता से कभी किसी को कुछ हासिल नहीं हुआ। इतिहास गवाह है इस बात का आज भी लोग महान और सफल लोगों को उनके संघर्ष से उन्हें याद करते है।संघर्ष से डर के जीवन में अपने कदमों को पीछे मत कीजिए। आज का संघर्ष आपके कल को सुरक्षित करता है। आप जिस तरह का संघर्ष करते है भाग्य भी उसी के अनुरूप फल देता है। यह सत्य है जीवन में कई बार बुनियादी, सामाजिक, पारिवारिक आदि समस्याएँ आ जाती है तब लक्ष्य के प्रति संघर्ष की इच्छाशक्ति को बनाए रखना मुश्किल हो जाता है क्योंकि ऐसी परिस्थिति में जीवन का संघर्ष कई गुणा बढ़ जाता है।लेकिन ऐसी स्थिति में भी सकारात्मक सोच वाला व्यक्ति अपनी आंतरिक इच्छाशक्ति की ताकत और शारीरिक व मानसिक क्षमता के बल पर किसी भी संघर्ष से जूझ सकता है बस उसमें अपने लक्ष्य के प्रति ललक होनी" से यह समझने की कोशिश करे की संघर्ष के रूप में ईश्वर हमें किस तरह से चमकाता हएक छोटा बच्चा पेड़ पर एक तितली के खोल को देखता है। बच्चे को तितली पर दया आ रही थी क्योंकि तितली खोल से बाहर आने के लिए बार-बार संघर्ष कर रही थी। बच्चे ने तितली की मदद करने की सोचकर उस खोल को तोड़ दिया और तितली को बाहर निकाल दिया। लेकिन तितली कुछ देर में ही मर गयी।बच्चा उदास हो गया और समझ नहीं पा रहा था कि तितली कैसे मर गयी और उसने अपनी माँ को सारी बात बताई। माँ ने कहा– "संघर्ष ही प्रकृति का नियम है और कोकून से निकलने के लिए तितली को जो संघर्ष करना पड़ता है उससे उसके पंखों और शरीर को मजबूती मिलती है। बेटा तुमने तितली की मदद करके उसे संघर्ष करने का मौका नहीं दिया जिससे उसकी मृत्यु हो गई।"जिराफ के बच्चे का जब जन्म होता है तो वह माँ के गर्भ से 10 फीट की ऊंचाई से पीठ के बल गिरता है। उँचाई से गिरने के कारण उसमें उठकर खड़े होने की शक्ति लुप्त हो जाती है। लेकिन उसकी माँ उसे बार-बार जोर-जोर से लातें मारती है और वह बच्चा तब तक लातें खाता रहता है जब तक कि वह उठकर खड़ा नहीं हो जाता और इतने संघर्ष के बाद कुछ देर में वह बच्चा लड़खड़ाते हुए उठ कर खड़ा हो जाता है।अगर जिराफ़ के बच्चे को अपनी माँ की लाते खाने को न मिले तो वह खड़े होने से पहले ही किसी शिकारी जानवर के पेट में पहुँच जाता। कोई भी व्यक्ति बिना संघर्ष और तकलीफ से कोई महान नहीं बनाया आज हम उदाहरण के तौर पर बड़े गर्व के साथ कह सकते हैं हमारे देश का प्रधानमंत्री संघर्ष से बचपन से ही समाज सेवा देश के लिए अपने शरीर को संघर्ष सील बनाया और आज भारत के सर्वप्रिय प्रधानमंत्री हैं हिना की संघर्ष की कहानी बहुत ही मेहनत लग्न इच्छाशक्ति के साथ तथा ईमानदारी के साथ कार्य करते रहे जिसका उन्हें फल मिला आज पूरे विश्व के लोकप्रिय व्यक्ति एवं भारत के प्रधानमंत्री हैं। आज पूरा विश्व कोरोना वायरस के रूप में संघर्ष कर रहा है यह भी एक संघर्ष है संघर्ष के रूप बहुत है विश्व आज कोरोना वायरस से कितना अधिक परेशान है  जहां तक नजर डालो विश्व के हर देश में कोरोना वायरस फैल चुका है जबकि यूरोपीय देशों में इसकी अधिकता बहुत तेज वायरस फैला है। अमेरिका इटली फ्रांस स्पेन  ब्रिटेन आज कोरोना वायरस से जूझ रहे हैं भारत देश में कोरोना वायरस की संख्या प्रतिदिन 5 या6 हजार की संख्या में प्रतिदिन देश में बढ़ रहे हैं कोरोना वायरस एक ऐसा वायरस है जिसने पूरे विश्व को हिला कर रख दिया है।

3 comments:

  1. अभी @p_ pratiksh's स्टेटस वीडियो देखें!😁

    भारत में UVideo-💯 सबसे अच्छा स्टेटस भारत में 🇮🇳। डाउनलोड करें, अन्वेषण करें और अधिक स्थिति साझा करें! यह मुफ़्त पाने के लिए क्लिक करें⬇️
    👉http://s.uvideo.in/Vsl7S1cY

    ReplyDelete